World toilet day 2021 know what is the theme of world toilet day and its history nav

17

World Toilet Day 2021: बड़े शहरों और कस्बों में रहने वाले लोग बिना स्थायी टॉयलेट के लाइफ की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं. लेकिन एक सच्चाई ये भी है कि आज भी दुनिया के 3.6 बिलियन लोगों के पास टॉयलेट नहीं है. क्या आप जानते हैं कि स्वच्छता के साथ किया समझौता हमारे खाने और पानी को दूषित करके समाज के बड़े तबके पर गंभीर बीमारियों का कहर बरपा सकता है, लोगों की जान जा सकती है. हमारे जीवन में शौचालय यानी टॉयलेट (Toilet) और स्वच्छता (sanitation) के महत्व के बारे में जागरूकता लाने के लिए ही हर साल 19 नवंबर को विश्व शौचालय दिवस यानी वर्ल्ड टॉयलेट डे (World Toilet Day) मनाया जाता है. साल 2001 में एक एनजीओ वर्ल्ड टॉयलेट ऑर्गेनाइजेशन (World Toilet Organization) की स्थापना करने वाले सिंगापुर के जैक सिम (Jack Sim) ने एक निश्चित पहल के तहत वर्ल्ड टॉयलेट डे की शुरुआत की. ये उन्हीं का विचार था कि लोगों के बीच स्वच्छता और स्वच्छता के महत्व को लेकर इस दिन का प्रयोग जागरूकता बढ़ाने के लिए किया जाए. उनकी इस पहल को सस्टेनेबल सेनिटेशन अलायंस (SuSanA) का समर्थन प्राप्त था. साल 2010 में, संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने जल और स्वच्छता के मानव अधिकार (HRWS) को एक मौलिक मानव अधिकार (fundamental human right) के रूप में मान्यता दी.

इसके बाद 24 जुलाई 2013 को संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने अपने 67 वें सत्र में एक प्रस्ताव पारित किया, जिसके द्वारा 19 नवंबर को वर्ल्ड टॉयलेट डे (World Toilet Day) के रूप में मान्यता दी. इसके साथ ही इसने सभी को बुनियादी स्वच्छता सेवा प्रदान करने में हुई असंतोषजनक प्रगति को स्वीकार करते हुए ये माना कि किस तरह इस कमी ने लोगों की हेल्थ पर, उनकी आर्थिक और सामाजिक स्थिति पर नकारात्मक प्रभाव डाला है. इस संकल्प को 122 सदस्य देशों ने अपनाया.

यूएनजीए का आग्रह 
संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने जल संसाधनों और हमारे पर्यावरण पर अपर्याप्त स्वच्छता (inadequate sanitation) के नकारात्मक प्रभावों पर भी प्रकाश डाला. अंतर्राष्ट्रीय संगठन ने अपने सभी सदस्य देशों से खुले में शौच को समाप्त करने, स्वच्छता के महत्व को बढ़ावा देने और लोगों से सीवेज ट्रीटमेंट का भी आग्रह किया.

यह भी पढ़ें- अपनी क्षमताओं पर संदेह करना भी हो सकता है बेहतर प्रदर्शन के लिए फायदेमंद – स्टडी

वर्ल्ड टॉयलेट डे 2021 का महत्व
विश्व शौचालय दिवस का उद्देश्य आदर्श स्वच्छता की आदतों (ideal sanitary practices) के बारे में जागरूकता पैदा करना और जागरूकता फैलाना है, जो महिलाओं की हेल्थ और सुरक्षा को बढ़ावा देते हैं. इस दिन का उपयोग लोगों को खुले में शौच करने से रोकने के लिए भी किया जाता है, क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए खतरा है, साथ ही महिलाओं और लड़कियों को हमलों के प्रति भी संवेदनशील बनाता है.

यह भी पढ़ें- बच्चे को है कब्ज की समस्या? इन घरेलू नुस्खों से करें इलाज

वर्ल्ड टॉयलेट डे 2021 की थीम
इस साल के वर्ल्ड टॉयलेट डे की थीम ‘शौचालयों के मायने (Valuing Toilet)’ है. इस थीम के जरिए हमारे जीवन में टॉयलेट्स की पूर्ण आवश्यकता पर बल देने का संदेश दिया गया है.

Tags: Health, Health News, Lifestyle, World Toilet Day



Source link