When Mars Is Inauspicious Couple Gives Trouble In Life Read Hanuman Chalisa Manglik Dosh

105

Manglik Dosh: मंगल ग्रह को प्रभावशाली ग्रह माना गया है. मंगल ग्रह का स्वभाव उग्र है. मंगल ग्रह यदि अशुभ हो जाए तो जीवन में अमंगल लाता है. मंगल के अशुभ होने पर दांपत्य जीवन को कलह और तनाव से भर देता है. यहां तक की कभी-कभी ये तलाक की स्थिति भी बना देता है.

मंगल ग्रह के कारण जन्म कुंडली में मांगलिक दोष बनता है. विवाह से पूर्व जब वर वधु की जन्म कुंडली का मिलान किया जाता है तो सर्वप्रथम मंगल की स्थिति को देखा जाता है. कुंडली के केंद्र में मंगल ग्रह बैठ जाए तो मांगलिक दोष का निर्माण होता है. वहीं जब मंगल राहु के साथ संबंध बना लेता है तो अंगारक योग का निर्माण होता है. अंगारक योग को ज्योतिष शास्त्र में खतरनाक योगों में से एक माना गया है.

मंगल पति और पत्नी के रिश्तों को प्रभावित करता है

मंगल खराब होने पर पति और पत्नी के रिश्तों में दरार लाने का काम भी करता है. इस कारण पति और पत्नी में विवाद की स्थिति बनी रहती है. मंगल दांपत्य जीवन में मानसिक तनाव की स्थिति भी पैदा करता है. इसलिए मंगल ग्रह की अशुभता को दूर करना बहुत ही जरूरी हो जाता है.

मंगल खराब होने पर ये फल देता है

मंगल ग्रह जब खराब होता है तो व्यक्ति की वाणी को खराब कर देता है. ऐसे लोग सदैव उग्रता लिए होते हैं. क्रोध बहुत जल्दी आ जाता है. जिस कारण कभी ऐसे लोग हिंसक भी हो जाते हैं. ऐसे लोगों के स्वभाव में विनम्रता का अभाव दिखाई देता है. ऐसे लोग लड़ाई झगड़े के लिए हमेशा तैयार रहते हैं.

मंगल का उपाय

मंगल की अशुभता को दूर करने के लिए हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए. मंगलवार का व्रत रखना चाहिए. घर में हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए. दिन में एक समय का भोजन बिना नमक के करना चाहिए. बंदरों को गुड और चने खिलाने से भी मंगल का दोष कम होता है.

Shani Amavasya 2021: शनिदेव को प्रसन्न करने का बन रहा विशेष योग, शनिवार को साढ़ेसाती और ढैय्या से बचने का करें उपाय

Source link