Viral: Twitter पर चोर की वायरल हुई चिट्ठी, पढ़कर गुम हुई सबकी सिट्टी-पिट्टी

19

मध्य प्रदेश:

अगर किसी चोर के घर में चोरी करेंगे तो कुछ नहीं मिलेगा. लेकिन, अगर कोई आपसे ये कहे कि एक SDM के घर चोरी करने के बाद कुछ नहीं मिला तो. है ना थोड़ा शॉकिंग. दरअसल, हम बात कर रहें हैं मध्यप्रदेश के देवास की. जहां दिन पर दिन चोरियां बढ़ती जा रही है. लेकिन, इस चोरी का किस्सा सुनकर आपको शॉक नहीं लगेगा. बल्कि आप हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे. जी हां, बात ही कुछ ऐसी है. दरअसल, मध्यप्रदेश में धड़ाधड़ एक चिट्ठी वायरल हो रही है. गजब की बात ये है कि ये चिट्ठी एक चोर ने लिखी है. ये वो चोर हैं जो एक SDM के घर चोरी करने गया था और उसे वहां कुछ हाथ नहीं लगा. तो उसने SDM के नाम एक चिट्ठी लिख दी. 

                                                                     

बता दें, चोर की इस चिट्ठी को एक ट्विटर यूजर @Supriya23bh ने हाल ही में शेयर किया था. जिसमें उन्होंने कैप्शन लिखते हुए ‘गजब’ कहा था. साथ में घटना पर प्रकाश डालते हुए कहा ‘मध्यप्रदेश के देवास में डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन गौड़ के बंगले पर हुई चोरी… चोर note छोड़ के गए’. उनके इस ट्वीट को अभी तक 3,718 लाइक्स मिल चुके हैं. साथ ही 470 बार रीट्वीट भी किया जा चुका है. 

                                                       

जारी की गई रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये चोर खातेगांव SDM त्रिलोचन गौड़ के सिविल लाइन स्थित सरकारी बंगले पर चोरी करने पहुंचे थे. sdm लगभग 15 दिन से अपने घर पर नहीं थे. हालांकि, जब वो देवास स्थित अपने घर पहुंचे तो वो समान बिखरा हुआ देखकर हैरान रह गए. उनके घर से चुख कैश और चांदी की ज्वैलेरी गायब हैं. जिसकी सूचना पुलिस को दे दी गई है. इनवेस्टिगेशन के दौरान ही घर से ये अनोखी चिट्ठी बरामद हुई है. 

                                                             

अब चलिए आपको बता देते हैं कि चिट्ठी में लिखा क्या है? वैसे तो आप तस्वीर देखकर ही समझ जाएंगे कि इसमें क्या लिखा है. लेकिन, अगर आपको इस चोर की हैंडराइटिंग समझ नहीं आ रही है. तो हम बता देते हैं. जी चोर ने लिखा है. ‘जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर’.

                                                         

अब इस पर लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं देना शुरू कर दिया है. वो भी अजब-गजब प्रतिक्रियाएं. जहां एक ने ये लिखा है कि ‘ये पढ़कर कलेक्टर साहब हंसे जरूर होंगे’. 

                                                                   

वहीं दूसरे ने चोरों की मेहनत पर अफसोस जताते हुए कहा. ‘बेचारे इतनी मेहनत से लॉक खोले होंगे और पैसे भी नहीं मिले’.



संबंधित लेख

Source link