up Police attach land worth about two crores of Bahubali Atiq Ahmed henchman Majid

59

अतीक अहमद गैंग के सदस्य माजिद की जमीन कुर्क.

Atique Ahmed News: उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) ने अतीक अहमद गैंग के सदस्य माजिद की करीब दो करोड़ कीमत की जमीन कर् कर ली है.

प्रयागराज. कोरोना का असर थोड़ा कम होने के बाद बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद (Atique Ahmed) के गैंग पर पुलिस ने शिकंजा कसना और तेज कर दिया है. शनिवार को पूरामुफ्ती थाना पुलिस ने अतीक अहमद गैंग के सदस्य माजिद की 30 बिस्वा जमीन कुर्क करने की कार्रवाई को अंजाम दिया है. पूरामुफ्ती थाना पुलिस ने राजस्व विभाग की टीम की मौजूदगी में मरियाडीह इलाके में गैंगस्टर एक्ट के तहत कुर्की की कार्रवाई की गई है. पुलिस के मुताबिक कुर्क की गई जमीन की कीमत लगभग दो करोड़ 25 लाख रुपए है. डीएम की ओर से एक फरवरी 2021 को गैंगस्टर एक्ट के तहत जारी कुर्की आदेश के क्रम में ये कार्रवाई की गई है.

अतीक अहमद गैंग के सदस्य माजिद की जमीन कुर्क कर पुलिस ने नोटिस बोर्ड लगा दिया है. कुर्क की गई जमीन का प्रशासक एसएचओ पूरामुफ्ती आशुतोष तिवारी को बनाया गया है. पुलिस ने 09 जून को भी माजिद की जमीन कुर्क की थी.

पूर्व बीएसपी MLC गिरफ्तार

इधर, उत्तर प्रदेश में बसपा के पूर्व एमएलसी रामू द्विवेदी समेत उसके 3 साथियों को पुलिस ने लखनऊ  से गिरफ्तार कर लिया है. देवरिया पुलिस ने 2012 के एक मामले में रामू द्विवेदी को गिरफ्तार किया है. रंगदारी मांगने में पुलिस ने बसपा के पूर्व एमएलसी को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार देवरिया के रामपुर कारखाना थाने में रामू को रखा गया है. लखनऊ के धेनुमती अपार्टमेंट से गिरफ्तारी हुई है. इस दौरान गिरफ्तारी का सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गया है.दरअसल, शराब व्यापारी संजय केडिया पर जानलेवा हमले के पुराने मामले में रामू द्विवेदी गिरफ्तारी हुई है. संजय केडिया की तहरीर पर रामू द्विवेदी पर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का केस दर्ज हुआ था. कोतवाली पुलिस ने पूर्व एमएलसी संजीव द्विवेदी उर्फ रामू, विशाल राव चंदेल, संजय चौरसिया सहित अन्य लोगों पर हत्या के प्रयास और रंगदारी का केस दर्ज किया था. कारोबारी संजय केडिया और निकुंज अग्रवाल से पुलिस ने नई तहरीर देकर पूर्व एमएलसी के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है. एडीजी जोन अखिल कुमार ने एसपी को पत्र भेज कर रामू पर दर्ज मुकदमे, जुड़े लोग और संपत्तियों के बारे में जानकारी मांगी है. जबकि दूसरी तरफ डीसीआरबी से भी रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है.







Source link