UP: सड़क हादसों का ऑन स्पॉट डाटा फीड करेगी पुलिस, 15 मार्च को लांच होगा मोबाइल App

69

पुलिस सड़क हादसोंं का डाटा ऑनलाइन एप में फीड करेगी.

Etawah News: सड़क हादसों (Road Accident) में कमी लाने के लिए इटावा में पुलिस एक मोबाइल लॉन्च करने वाली है. इस एप में पुलिस हादसों का रियल टाइम डाटा (Real Time Data) फीड करेगी.

इटावा. देश में होने वाले सड़क हादसों (Road Accident) में कमी लाने के लिए केंद्र सरकार के सड़क मंत्रालय के निर्देश पर यातायात विभाग ने आइरेड यानी इंटीग्रेटिड रोड एक्सीडेंट डाटाबेस मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च किया है. इस मोबाइल एप्लीकेशन को इटावा में 15 मार्च से लागू कर दिया जाएगा. कहीं भी दुर्घटना होने पर ऑन स्पॉट डाटा फीडिंग का काम किया जाएगा. इटावा के एआरटीओ ब्रजेश कुमार ने यह जानकारी दी. इसके पीछे विभाग का सड़क हादसोे में कमी लाने का मकसद है. इसके लिए डाटा एनालिसिस होगा. इसमें चार विभागों को शामिल किया गया है.

पुलिस, परिवहन, स्वास्थ्य विभाग और लोक निर्माण विभाग को इसमें शामिल किया गया है. इटावा शहर के दो सिविल लाइन और फ्रेंड्स कॉलोनी में लाइव ड्राइरन किया गया जो पूरी तरह सफल रहा. इस मोबाइल एप्लीकेशन को इटावा  में 15 मार्च से लागू कर दिया जाएगा.

हादसे के फौरन बाद जानकारी अपडेट कर सकेगी पुलिस

कहीं भी दुर्घटना होने पर ऑनस्पॉट डाटा फीडिंग का काम किया जाएगा. दुर्घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचने वाले पुलिस कर्मी को एप पर हादसे से जुड़ी जानकारियां जैसे तारीख, समय, दुर्घटना स्थल, संबंधी वाहन, दुर्घटना का संभावित कारण आदी अपलोड करना होगा. अपलोड होते ही पूरा ब्योरा स्वास्थ्य विभाग, परिवहन विभाग और राष्ट्रीय राजमार्ग या लोक निर्माण विभाग के पास पहुंच जाएगा. इसके बाद संबंधित विभाग इसमें आगे की कार्रवाई करेंगे. डेटा एकत्रित हो जाने के बाद इसकी समीक्षा भी की जा सकती है.ये भी पढ़ें: बिहार: शराबबंदी के सवाल पर बुरी फंसी RJD, रामसूरत राय करेंगे तेजस्वी यादव पर मानहानि का केस

आईआईटी मद्रास के विशेषज्ञ करेंगे डाटा का विश्लेषण

एआरटीओ ब्रजेश कुमार ने बताया कि डेटाबेस तैयार करने के बाद इसका पूरा विश्लेषण आईआईटी मद्रास के विशेषज्ञ करेंगे. भारत सरकार के सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय विश्लेषण के अनुरूप मार्ग दुर्घटनाओं को रोकने और सड़क सुरक्षा की दिशा में बेहतर कार्य करने की नीति तैयार करेगा. इस अवसर पर शैलेंद्र कुमार शुक्ला डीआइओ, ब्रजेंद्र गोयल साइंटिस्ट बी एनआईसी, धर्मेंद्र कुमार रोल आउट मैनेजर, प्रभारी निरीक्षक सिविल लाइन रमेश कुमार, प्रभारी निरीक्षक फ्रेंड्स कॉलोनी, यात्रीकर अधिकारी अरविद कुमार जैसल भी मौजूद रहे.






Source link