Uddhav Thackeray: maharashatra cm uddhav thackray and sharad pawar targetted by bjp over anil deshmukh case, अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद उद्धव सरकार पर बीजेपी का हमला तेज

36

हाइलाइट्स:

  • अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद महाविकास अघाड़ी पर बीजेपी का हमला तेज
  • रविशंकर बोले- उद्धव ठाकरे ने शासन करने का नैतिक अधिकार खोया
  • बीजेपी ने कहा कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए

मुंबई
महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद भी बीजेपी उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी सरकार को बख्शने के मूड में नहीं दिख रही है। बीजेपी नेता और पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने पूरे प्रकरण को लेकर एकबार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है।

सोमवार को फडणवीस ने कहा, ‘महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा पहले होना चाहिए था, जिस समय उनपर आरोप लगे थे। उच्च न्यायालय ने मामले में हस्तक्षेप किया उसके बाद गृह मंत्री को इस्तीफा देना पड़ा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खामोश क्यों है?

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद भी इस मुद्दे महाराष्ट्र सरकार पर हमलावर हैं। उन्होंन कहा कि पूरे प्रकरण के एक निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। मामले में जो भी शामिल हो उसपर कार्रवाई होनी चाहिए। प्रसाद ने एनसीपी नेता शरद पवार पर इस मामले को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि शरद पवार एक वरिष्ठ नेता हैं और उन्हें अनिल तरह को इस तरह क्लीन चिट देने के असर को समझना चाहिए।’

रविशंकर ने कहा कि हम शुरू से एक स्वतंत्र निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे थे और मुंबई पुलिस के द्वारा ये संभव नहीं था। जैसा आरोप लगाया गया था कि देशमुख जी ने सचिन वझे को 100 करोड़ रुपये कलेक्शन कर का टारगेट दिया था। हमने ये विषय उठाया था कि ये टारगेट सिर्फ एक शहर मुंबई का है तो पूरे महाराष्ट्र का टारगेट क्या था? ये टारगेट सिर्फ एक मंत्री का है तो बाकी मंत्री का टारगेट क्या है?

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने दिया पद से इस्तीफा, CM ठाकरे को लिखा पत्र, पवार से की मुलाकात

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, ‘ देशमुख जी जो उगाही की मांग कर रहे थे, वो अपने लिए कर रहे थे या अपनी पार्टी के लिए कर रहे थे या पूरी सरकार के लिए कर रहे थे? मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खामोश हैं। शरद पवार जी कहते हैं कि मंत्री के बारे में फैसला मुख्यमंत्री करते हैं और कांग्रेस-शिवसेना कहती है कि देशमुख जी के बारे में फैसला एनसीपी करेगी। आज तो कमाल हो गया, शरद पवार से अनुमति के बाद मुख्यमंत्री जी को इस्तीफा सौंपा गया।’

बीजेपी ही नहीं उसकी सहयोगी पार्टी आरपीआई भी अनिल देशमुख के इस्तीफे को लेकर उद्धव सरकार पर निशाना साध रही है। केंद्रीय मंत्री और आरपीआई चीफ रामदास आठवले ने कहा, ‘महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख को इस्तीफा देनी की ज़रूरत थी। उन्हें NCP और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा बचाने की कोशिश की गई थी। शरद पवार ने अनिल देशमुख को इस्तीफा देनी की इजाज़त दे दी है, यह अच्छी बात है।’

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें बढ़ीं , वसूली मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट ने दिए CBI जांच के आदेश
गौरतलब है कि मुंबई पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं। परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसके बाद आज कोर्ट ने मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। कोर्ट के आदेश के बाद आज दोपहर अनिल देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

ty

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

Source link