uddhav thackeray and governor rift: Maharashtra Politics: बीजेपी पर मांगों पर राज्यपाल का सरकार से जवाब तलब – maharashtra governor bhagat singh koshyari asks thackeray government about vacant seat of assembly speaker

28

मुंबई
राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने महाविकास आघाडी सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने विधानमंडल के मॉनसून अधिवेशन की कालावधि बढ़ाने, विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव जल्द कराने और ओबीसी आरक्षण का फैसला होने तक स्थानीय निकाय चुनावों को स्थगित किए जाने के संदर्भ में लिखा है। इन तीनों मुद्दों पर सरकार से कार्रवाई करने को कहा है।

राज्यपाल ने पत्र में यह भी स्पष्ट किया है कि नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में बीजेपी के प्रतिनिधि मंडल ने 23 जून को उनसे मिलकर ये मांगें रखीं। फडणवीस ने राज्यपाल के समक्ष यह भी आरोप लगाया था कि सरकार संवैधानिक व्यवस्थाओं का पालन नहीं कर रही है। विधानसभा का अध्यक्ष पद खाली नहीं रखा जा सकता। वहीं, सरकार विधानसभा और विधान परिषद के अधिवेशन की कालावधि को कम कर विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है। वहीं सरकार का कहना है कि कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते वह विधान मंडल अधिवेशन की अवधि को सीमित रखना चाहती है, जरूरी विधायी काम भी निपटाए जा सकें और संक्रमण को फैलने से भी रोका जा सके।

नए विधानसभा अध्यक्ष के लिए सरगर्मी तेज
राज्यपाल के पत्र के बाद महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष पद पर नए अध्यक्ष की नियुक्ति की सरगर्मी तेज हो गई है। कांग्रेस नेता नाना पटोले के इस्तीफे के बाद से पद रिक्त है। विधानसभा का पिछला अधिवेशन उपाध्यक्ष नरहरी झीरवल की अध्यक्षता में संपन्न हुआ था।

बुधवार देर शाम मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर सरकार में शामिल तीनों दलों के बड़े नेताओं की एक बैठक हुई, जिसमें कांग्रेस की ओर से कांग्रेस विधायक दल के नेता और राज्य के राजस्व मंत्री बालासाहेब थोरात, पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चव्हाण, एनसीपी की तरफ से उप मुख्यमंत्री अजीत पवार और जल संसाधन मंत्री जयंत पाटील तथा शिवसेना की तरफ से स्वयं मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने भाग लिया।

कौन होगा नया अध्यक्ष??
विधानसभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस के खाते में है, लेकिन कांग्रेस ने अब तक इस पद के लिए कोई अधिकृत उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। हालांकि कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि शनिवार या रविवार तक कांग्रेस इस बारे में फैसला ले लेगी। पिछले दिनों कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले को इसी संबंध में दिल्ली तलब किया गया था।

शनिवार को महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी एस.के. पाटील और कांग्रेस के कुछ अन्य वरिष्ठ नेता दिल्ली से मुंबई आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि वे इसी सिलसिले में आ रहे हैं। इस पद के लिए पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, कांग्रेस विधायक संग्राम धोपटे और सुरेश वरपुडकर के नाम रेस में बताए जा रहे हैं। कांग्रेस को एक मंत्री पद देकर अध्यक्ष पद शिवसेना या एनसीपी को देने की भी चर्चा थी।

एनसीपी का राज्यपाल पर पलटवार
बीजेपी की मांग को आधार बनाकर राज्यपाल के खत पर एनसीपी ने पलटवार किया है। एनसीपी के नेता और राज्य के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि हम विधानसभा अध्यक्ष के पद के लिए चुनाव कराएंगे ही, लेकिन राज्यपाल को भी अपने कोटे से 12 विधान परिषद सदस्यों को नामित करने पर त्वरित फैसला लेना चाहिए। 12 विधायक महाराष्ट्र के लोगों के विकास एवं कल्याण में योगदान दे सकते हैं।

Source link