Tokyo Paralympics 2020 Haryana Govt Also Offers Govt Jobs And Reward Money To Sumit Antil And Yogesh Kathuniya

20

Tokyo Paralympics: भाला फेंक पैरा एथलीट सुमित अंतिल (Sumit Antil) ने सोमवार को टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में F-64 इवेंट में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. सुमित ने गोल्ड जीतने के अलावा 68.55 मीटर का थ्रो कर वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना दिया. इसके अलावा सोमवार को पुरुषों की डिस्कस थ्रो की F56 स्पर्धा में योगेश कथूनिया (Yogesh Kathuniya) ने सिल्वर मेडल जीता. भारत ने अब तक कुछ 7 मेडल अपने नाम कर लिए हैं. 

सुमित और योगेश पर हुई इनाम की बरसात 
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने टोक्यो पैरालम्पिक में विश्व रिकॉर्ड के साथ भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले सुमित अंतिल को 6 करोड़ रूपये और रजत पदक जीतने वाले चक्का फेंक खिलाड़ी योगेश कथूनिया को 4 करोड़ रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की. सरकार के बयान के अनुसार हरियाणा सरकार दोनों को सरकारी नौकरी भी देगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतिल ने स्वर्ण पदक जीतकर हरियाणा ही नहीं बल्कि पूरे देश का दिल जीता है. उन्होंने कहा कि कथूनिया ने भी प्रदेश के साथ देश का नाम रोशन किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वर्ण जीतने के बाद अंतिल से फोन पर बात करके कहा था कि उनके प्रदर्शन से युवाओं को प्रेरणा मिलेगी.

सीएम ने ट्वीट कर लिखा- “पैरालंपिक में भी गाड़ दिया हरियाणा के छोरे नै लठ !’
सीएम मनोहर लाल खट्टर ने सुमित के गोल्ड मेडल जीतने के बाद ट्वीट किया, “पैरालंपिक में भी गाड़ दिया हरियाणा के छोरे नै लठ ! सुमित अंतिल ने पैरालंपिक में भाला फेंक खेल में वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीतकर हरियाणा वासियों के साथ-साथ पूरे हिंदुस्तान का दिल जीत लिया है. उनके इस ऐतिहासिक प्रदर्शन पर उन्हें ढेर सारी बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं.”

ट्वीट कर इनामों की घोषणा की
सीएम मनोहर लाल खट्टर ने ट्वीट किया, “देश के लिए गोल्ड मेडल जीतने पर हरियाणा के लाल सुमित अंतिल को प्रदेश सरकार अपनी खेल नीति के तहत 6 करोड़ रूपए, क्लास वन की नौकरी व अन्य सुविधाएं देगी.” इसके साथ ही उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा, “हरियाणा के खिलाड़ी योगेश कथूनिया को प्रदेश सरकार की ओर से सिल्वर मेडल जीतने पर 4 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि और हरियाणा खेल नीति के तहत नौकरी व अन्य सुविधाएं दी जाएंगी.”

सुमित अंतिल हरियाणा के सोनीपत के  और योगेश झज्जर के बहादुरगढ़ के निवासी हैं. दोनों ने ही देश का नाम रोशन किया है. अब तक भारत के खाते में 2 गोल्ड मेडल समेत कुल 7 पदक आ चुके हैं. भारतीय पैरा एथलीट शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और उम्मीद है कि देश के लिए कुछ अन्य पदक आएंगे. 

यह भी पढ़ेंः Vinod Kumar Loses Bronze: टोक्यो पैरालंपिक में भारत को लगा झटका, विनोद कुमार ने गंवाया ब्रॉन्ज मेडल

Source link