Tokyo Olympics 2020, Anjum Moudgil, Tejaswini Sawant Not Able To Make It In Final

22

Tokyo Olympics 2020: टोक्यो ओलंपिक में भारत को शूटिंग से निराशा मिलना लगातार जारी है. भारतीय निशानेबाज अंजुम मोदगिल और तेजस्विनी सावंत महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री के फाइनल में जगह बनाने से चूक गए. क्वालीफाइंग राउंड में अंजुम 15वें और तेजस्विनी 33वें स्थान पर रहीं.

ओलंपिक से पहले शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय निशानेबाजी टीम का खराब प्रदर्शन जारी है. सौरभ चौधरी को छोड़कर किसी भी खिलाड़ी ने फाइनल्स के लिए क्वालीफाई नहीं किया. असाका निशानेबाजी परिसर में विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता अंजुम ने 54 इनर 10 (10 अंकों के 54 निशाने) के साथ 1167 अंक बनाये जबकि अनुभवी तेजस्वी ने स्टैंडिंग, नीलिंग और प्रोन पोजीशन की तीन सीरीज में 1154 अंक ही बना सकी.

अंजुम शुरुआती 40 निशानों के बाद शीर्ष आठ में थी और उनके फाइनल में पहुंचने की संभावना थी. वह हालांकि इसके बाद लय बरकरार नहीं रख सकी. नीलिंग और प्रोन में उनका प्रदर्शन अच्छा था लेकिन स्टैंडिंग में वह सिर्फ 382 अंक ही जुटा सकी. तेजस्वी नीलिंग के खराब प्रदर्शन से उबरने में नाकाम रहीं. उन्होंने प्रोन में 394 और स्टैंडिंग में 376 अंक बनाये.

सिर्फ 8 खिलाड़ियों को मिलती है फाइनल में जगह

रुस ओलंपिक समिति (आरओसी) की यूलिया जायकोवा ओलंपिक क्वालीफिकेशन रिकॉर्ड कायम करते हुए 1182 अंक के साथ शीर्ष पर रही. क्वालीफिकेशन में शीर्ष आठ निशानेबाज फाइनल में जगह बनाते हैं.

जायकोवा के अलावा अमेरिका की सेगन मैडालेना, जर्मनी की जोलिन बीयर, आरओसी की यूलिया करीमोवा, सर्बिया की एंड्रिया अर्सोविक, स्विट्जरलैंड की नीना क्रिस्टन, स्लोनिया की जीवा ड्वोर्साक और नॉर्वे की जेनेट हेग डुएस्टैड ने फाइनल में जगह पक्की की.

इन खेलों में अब भारत की तरफ से सिर्फ संजीव राजपूत अपनी चुनौती पेश करने के लिए बचे है.

Tokyo Olympics 2020: वंदना कटारिया की हैट्रिक के दम पर भारत ने दक्षिण अफ्रीका को हराया

Source link