Three sharp shooters arrested for killing two passersby in Old Delhi, पुरानी दिल्ली में अवैध निर्माण के खेल के पीछे दो राहगीरों की हत्या में तीन शार्प शूटर गिरफ्तार

17

नई दिल्ली:

पुरानी दिल्ली में अवैध निर्माण के खेल के पीछे हुई ताबड़तोड़ फायरिंग में दो निर्दोष गरीब लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी, दरअसल नईम और उनका रिश्तेदार मुनीब पुरानी दिल्ली में मिलीभगत से होने वाले अवैध निर्माण की शिकायत लगाते थे जिससे कुछ बिल्डर उनसे नाराज रहते। इस वजह से कुछ लोगों ने एक बड़ी साजिश रची, दो लोगों को नईम और मुनीब की हत्या की सुपारी दी गई। उन दोनों ने अपने साथियों की मदद से बीती 8 जुलाई को दोनों को रास्ते में रोककर फायरिंग की, वे दोनों तो बच गए लेकिन वहां से गुजर रहे दो लोगों की जान चली गई जिनमें एक की पहचान संजय के तौर पर हुई जो अपने परिवार का इकलौता कमाने वाला था गरीब परिवार है। दूसरे की 3 दिन बाद भी पहचान नहीं हो सकी है। उत्तरी जिला पुलिस की 5 टीमों ने इस पूरे मामले में अभी तक 3 शार्प शूटर को गिरफ्तार कर लिया है ,एक चौथा हिरासत में है, इसके साथ ही इस पूरी साजिश का खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि एक बड़ी साजिश है जिसमें अभी शूटर पकड़ में आए हैं लेकिन साजिश में शामिल कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया जाना बाकी है। अपराध में इस्तेमाल हथियार 01 अत्याधुनिक पिस्तौल, 01 देशी गन, 05 जिंदा कारतूस, 02 मोबाइल फोन, आरोपियों के कपड़े बरामद।

        आरोपियों की पहचान:

 1. राहुल @ चार्ली निवासी नंदनगरी, दिल्ली आयु-23 वर्ष।

 2. हिमांशु निवासी नंदनगरी, दिल्ली, आयु-21।

 3. मेहताब निवासी गली राजन, फराशखाना, दिल्ली, उम्र-52 वर्ष।

 8 जुलाई की शाम को, कुछ व्यक्तियों ने डीसीएम गोल चक्कर बाडा  हिंदू राव के पास नईम और मुनीब दोनों निवासी बाडा हिंदू राव, की कार रोककर उनके साथ झगड़ा करने लगे। पीड़ितों ने राहगीरों की मदद से उन पर काबू पा लिया लेकिन वे भागने में सफल रहे। कुछ मिनटों के बाद, योजना के अनुसार, हमलावर लौट आए और पीड़ितों पर दो-दो गोलियां चलाईं, जिसके परिणामस्वरूप दो लोगों की मौत हो गई, जो लड़ाई में शामिल नहीं थे।  घटना के बाद, शिकायतकर्ता के बयान दर्ज किया गया और एफआईआर संख्या 191/21, दिनांक 09.07.2021, धारा 302/307/34 आईपीसी और 25/27/54/59 आर्म्स एक्ट के तहत थाना बाड़ा हिंदू राव में मामला दर्ज किया गया ।

प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि शिकायतकर्ता मो.  नईम और उसके भतीजे मुनीब की सदर बाजार और बाडा हिंदू राव, दिल्ली के अन्य बिल्डरों के साथ प्रतिद्वंद्विता थी।  इस एंगल से जांच शुरू की गई थी।  पता चला कि मुनीब ने अहता किदारा इलाके में एक इमारत के निर्माण पर रोक लगवा कर उस को ध्वस्त करवा दिया था। Local इनपुट एकत्र किए गए और यह पता चला कि एक बिल्डर ने अपने साथी और अपने साथी के रिश्तेदार मेहताब निवासी फराश खाना के साथ मिल कर साजिश रची और मुनीब और नईम को खत्म करने के लिए पूरे कृत्य को अंजाम दिया। तकनीकी निगरानी की गई, स्थानीय इनपुट एकत्र किए गए और बिल्डर और उसके सहयोगियों को पकड़ने के लिए स्रोतों को तैनात किया गया।

इसके अलावा, घटना स्थल के आस-पास के कैमरों के सीसीटीवी फुटेज के विश्लेषण से, व्यक्तियों के एक समूह को पीड़ितों पर हमला करते देखा गया.  सीसीटीवी फुटेज से हमले के अहम सुराग मिले हैं.  जांच के दौरान चार हमलावरों की पहचान की गई और उस दिशा में कड़े प्रयास किए गए. उक्त निरंतर प्रयासों का फल मिला और सूत्रों के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि एक व्यक्ति, जो इसमें शामिल है और अपराध के समय हथियार ले जा रहा था, बुलेवार्ड रोड, सिविल लाइंस, दिल्ली आने वाला है.  तदनुसार, एक जाल बिछाया गया और राहुल @ चार्ली निवासी नंदनगरी, दिल्ली आयु-23 वर्ष को पकड़ा गया ओर उसकी सरसरी तलाशी लेने पर, तीन जिंदा कारतूस के साथ एक पिस्तौल बरामद किया गया.

साथ ही, SI विनीत, ASI योगेंद्र, HC  परवीन सैनी और Ct हंसराज की देखरेख में एक टीम, जो एक अन्य आरोपी हिमांशु की तलाश में काम कर रही थी, ने मैनुअल और तकनीकी खुफिया जानकारी के माध्यम से हिमांशु को चंडीगढ़ में पकड़ लिया. बाद में उसे दिल्ली लाया गया. उसकी निशानदेही पर एक देशी तमंचा और दो जिंदा कारतूस बरामद किए गए. पूछताछ के दौरान राहुल @ चार्ली और हिमांशु ने खुलासा किया कि 08-07-2021 को उनके एक दोस्त ने बाडा हिंदू राव, दिल्ली जाने के लिए संपर्क किया था.  उनके दोस्त ने उन्हें बताया कि XXX (Name Withheld) ने उन्हें किसी काम के लिए बाड़ा हिंदू राव के पास बुलाया था. इसके बाद तीनों ने एक ऑटो किराए पर लिया और किशनगंज रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए.  वहां XXX अपने साथियों के साथ एक कार में आया और उन्हें मुनीब और नईम को मारने का टारगेट दिया.  राहुल @ चार्ली को पुष्टि करने के लिए कहा गया कि मुनीब अस्पताल में मौजूद है और उसे उसकी कार रोकने के लिए भी कहा गया था.

शुरुआत में जब राहुल ने गाड़ी रोकी तो कई लोगों ने उन्हें घेर लिया और मारपीट करने लगे.  उसके साथी उसे बचाने आए . राहुल अपने साथियों की मदद से मुनीब के पास पहुंचा और उस पर फायरिंग शुरू कर दी.  दो राउंड फायरिंग के बाद सभी फरार हो गए. वर्तमान मामले में एक और आरोपी व्यक्ति महताब निवासी फराशखाना, दिल्ली को भी गिरफ्तार किया गया है जो इस जघन्य कृत्य के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक है.  पूछताछ करने पर उसने खुलासा किया कि उसे उसके एक परिचित रिश्तेदार ने मुनीब और नईम से संपर्क करने को कहा था ताकि स्थिति को सुलझाया जा सके.  लेकिन जब मुनीब नहीं मान रहा था तो उसने नईम और मुनीब को खत्म करने के लिए बिल्डर और उसके रिश्तेदार के साथ मिलकर साजिश रची. सह-आरोपियों को पकड़ने के लिए और प्रयास किए जा रहे हैं।  अच्छे कार्य करने वाले कर्मचारियों को उचित पुरस्कार दिया जा रहा है.



संबंधित लेख

Source link