The Highs And Lows Of MS Dhoni 15 Year International Career | साल 2004 से शुरू हुए धोनी के 15 साल के करियर के कुछ बड़े उतार

40


एमएस धोनी कब और किसको सरप्राइज दे दें इसका अंदाजा धोनी के करियर के अंत तक कोई नहीं लगा पाया. क्रिकेट में जो फेयरवेल मैच, एलान, ईमेल, ऑफिशियल एलान का चलन होता था, उसे धोनी काफी पहले ही तोड़ चुके थे. लेकिन कल का इंस्टाग्राम पोस्ट दुनिया के सभी फैंस के लिए एक ऐसे फुल स्टॉप की तरह आया जिसके आगे की कहानी धोनी के फेवरेट गाने यानी की, ‘मैं पल दो पल का शायर हूं’ के साथ खत्म हो गई. धोनी ने कल इंस्टाग्राम पर 7 बजकर 29 मिनट पर ये एलान कर दिया कि वो इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं.

अपने करियर में हर मुकाम तक पहुंचने वाले माही ने अपनी जिंदगी में कई उतार- चढ़ाव भी देखे. तो चलिए नजर डालते हैं कुछ ऐसे ही पलों पर.

बेहद खराब शुरूआत

2004: चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ अपने वनडे करियर की शुरूआत की और 0 रन पर पवेलियन चले गए.

दुनिया ने जब देखा धोनी का दम

2005: वाइजैग में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला एकदिवसीय शतक – 148 स्कोर. टीम में अपनी जगह पक्की की. पहली बार किसी भारतीय विकेटकीपर ने शतक बनाया.

टेस्ट पास किया

2006: पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद में अपना पहला टेस्ट शतक; कराची में पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे विकेट के लिए 146 रनों की नाबाद साझेदारी. भारत ने 287 रनों का पीछा किया.

2007: वेस्टइंडीज में अभी तक का सबसे खराब वर्ल्ड कप, धोनी के पुतले जलाए गए.

कैप्टन कूल

2007: दक्षिण अफ्रीका में ICC वर्ल्ड T20 के उद्घाटन के लिए एक युवा टीम का नेतृत्व किया और टीम को चैंपियन बनाया.

टीम का पूरा चार्ज संभाला

2008: अनिल कुंबले के बाद कप्तानी संभाली. घर में ऑस्ट्रेलिया को 2-0 से हराया; भारत को ऑस्ट्रेलिया में राष्ट्रमंडल बैंक ट्रॉफी का खिताब दिलवाया.

अलग कारनामा

41 सालों में पहली बार न्यूजीलैंड में टीम को जीत दिलाने वाला कप्तान.

सबसे आगे

भारत ने टेस्ट सीरीज में श्रीलंका को 2-0 से हराकर नंबर 1 टेस्ट टीम बनी.

इतिहास रचा

2011: भारत ने 28 साल बाद 50 ओवर का विश्व कप जीता. धोनी ने छक्का लगाकर टीम को फाइनल विजेता बनाया.

इंग्लैंड में मात

इंग्लैंड ने 4-0 से दी मात

2012: भारत ने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ 4-0 से गंवाई. इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट श्रृंखला में 1-2 से नीचे गए.

वापसी

2013: भारत ने बर्मिंघम में चैंपियंस ट्रॉफी जीती. धोनी आईसीसी ट्रॉफी में क्लीन स्वीप करने वाले पहले कप्तान बने.

अचानक

2014: ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला के दौरान टेस्ट रिटायरमेंट की घोषणा

वर्ल्ड कप हार

2015: भारत विश्व कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हारा.

टॉप पर

2016: ऑस्ट्रेलिया में T20I श्रृंखला 3-0 से जीता.

2017: विराट को कप्तानी सौंपी

रन आउट के साथ हुआ करियर खत्म

2019: अपने अंतिम अंतर्राष्ट्रीय मैच में, 350वें एकदिवसीय, न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में हार और टीम इंडिया का वर्ल्ड कप से बाहर होना





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here