T20 WC Quinton De Kock May Be Out Of The Tournament Soon The South Africa Cricket Board Will Take A Decision Know Reason

23

T20 WC 2021: साउथ अफ्रीका के स्टार बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक (Quinton de Kock) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. साउथ अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड (CSA) ने डिकॉक के ‘व्यक्तिगत कारणों’ से मैच से हटने के फैसले को संज्ञान में लिया है. डिकॉक के इस फैसले के बाद टीम में तनाव की खबरें आ रही हैं. बोर्ड ने इससे पहले  मंगलवार को अपने खिलाड़ियों को टी20 विश्व कप मैचों से पहले नस्लवाद के खिलाफ आंदोलन का घुटने के बल बैठकर समर्थन जताने का निर्देश दिया था. डिकॉक ने एक चौंकाने वाले कदम के तहत दुबई में मंगलवार को आईसीसी टी20 विश्व कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से खुद को चयन के लिए अनुपलब्ध बताया. बोर्ड ने कहा कि वह इस मामले में अगले कदम पर फैसला करने से पहले टीम प्रबंधन की रिपोर्ट का इंतजार करेगा.

क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने इस बारे में बयान जारी किया. इसके मुताबिक, “बोर्ड ने दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक द्वारा वेस्टइंडीज के खिलाफ मंगलवार को मैच पहले ‘घुटने टेकने’ में शामिल नहीं होने के व्यक्तिगत फैसले का संज्ञान लिया है.” डिकॉक ने अतीत में भी इस पहल का हिस्सा नहीं बनने का इशारा करते हुए कहा था, “यह हर किसी का फैसला होना चाहिए, जीवन में किसी को कुछ भी करने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए. मैं चीजों को इस तरह देखता हूं.” इससे पहले सीएसए ने सोमवार शाम सर्वसम्मति से इस पर रजामंदी जताई कि दक्षिण अफ्रीका के सभी खिलाड़ी बाकी मैचों की शुरुआत से पहले घुटने के बल बैठेंगे. बोर्ड ने देश के रंगभेद के अतीत का हवाला देते हुए खिलाड़ियों से एकजुटता दिखाने का निर्देश दिया. 

बोर्ड ने कहा, ‘‘ सोमवार शाम को जारी सीएसए बोर्ड के निर्देश के अनुसार सभी खिलाड़ियों के लिए नस्लवाद के खिलाफ एकजुटता दिखाते हुए लगातार ( टी20 विश्व कप में हर मैच से पहले) ‘घुटने के बल बैठने’ की जरूरत हैं. यह नस्लवाद के खिलाफ वैश्विक मुहिम भी है, जिसे खेल संहिता के तहत खिलाड़ियों द्वारा अपनाया गया है, क्योंकि वे लोगों को एक साथ लाने के लिए खेल की शक्ति को पहचानते हैं.” सीएसए ने डिकॉक पर कहा, “बोर्ड अगला कदम उठाने से पहले टीम प्रबंधन की एक और रिपोर्ट का इंतजार करेगा. विश्व कप के बचे हुए मैचों के लिए सभी खिलाड़ियों से इस निर्देश का पालन करने की अपेक्षा की जाती है.”

इस मुद्दे पर खिलाड़ियों का अलग-अलग रवैया 
दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर इस मुद्दे पर बंटे हुए नजर आ रहे हैं और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 विश्व कप के शुरूआती मैच से पहले कुछ खिलाड़ी ‘ घुटने के बल बैठने’ की जगह मुट्ठी उठाकर खड़े थे तो वही कुछ ने अपने हाथ पीछे की ओर पीठ पर रखे थे. तेज गेंदबाज एनरिच नोर्किया और विकेटकीपर हेनरिक क्लासेन अपनी पीठ के पीछे हाथ रखकर खड़े थे, यहां तक कि उनके साथियों ने ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ आंदोलन के लिए अपना समर्थन व्यक्त करने के लिए अलग-अलग तरीकों का इस्तेमाल किया. मंगलवार को हालांकि यह दोनों खिलाड़ी टीम के बाकी सदस्यों के साथ ‘घुटने के बल बैठे’ थे.

डिकॉक के समर्थन में उतरे पूर्व कप्तान
इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने डिकॉक का समर्थन करते हुए ट्वीट किया, “निश्चित रूप से यह तय करने का अधिकार व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह किसी भी आंदोलन में शामिल होना चाहता है या नहीं. एक क्रिकेट बोर्ड को खिलाड़ियों से ऐसा करने का अनुरोध करना चाहिए, लेकिन अगर खिलाड़ी ऐसा नहीं करना चाहता है तो उसे क्रिकेट खेलना नहीं रोकना चाहिए.” इससे पहले भारतीय टीम ने भी पाकिस्तान के खिलाफ रविवार को पहले मैच से पूर्व ‘ ब्लैक लाइव्स मैटर’ वैश्विक मुहिम के तहत घुटने के बल बैठकर नस्लवाद का विरोध किया था.

यह भी पढ़ेंः T20 WC 2021: टी20 विश्व कप में अफगानिस्तान की जीत पर सामने आई तालिबान की प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा

Mohammad Rizwan on Shami: शमी के समर्थन में पाकिस्तान में उठी आवाज, ओपनर रिजवान ने की ट्रोलर्स की बोलती बंद

Source link