Supplier Gang busted of SIM Card issued on fake ID to Fake call centres and spammers 5 arrested

68

दिल्ली में कथित तौर पर फर्जी आईडी पर सिम कार्ड खरीदने और इन्हें अनधिकृत कॉल सेंटर, स्पैमर्स तथा साइबर अपराध में शामिल लोगों को बेचने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, आरोपियों की पहचान असम निवासी उस्मान गोनी (26), वीरेंद्र सिंह (24), निशांत बंसल (24), गगन चोपड़ा (22) और प्रतीक शर्मा (21) के रूप में हुई है, ये सभी दिल्ली के निवासी हैं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऐसे सिम कार्ड रखने वाले एक शख्स के बारे में पता चलने के बाद पांच अगस्त को दोपहर करीब 1.30 बजे पुलिस ने छापेमारी की और पीतमपुरा में इनकम टैक्स कॉलोनी के पास से वीरेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से कुल 710 सिम कार्ड बरामद किए गए।

वीरेंद्र सिंह ने खुलासा किया कि वह हरियाणा के फतेहाबाद में मोबाइल की एक दुकान पर काम करता था और अपने साथियों के साथ पिछले एक साल से दिल्ली में फर्जी आईडी पर खरीदे गए सिम कार्ड बेचे हैं। वह अपने एक साथी गोनी की मदद से कोरियर के जरिये असम से फर्जी आईडी पर लाए गए पहले से चालू सिम कार्ड को खरीदता था।

अधिकारी ने बताया कि वह इन्हें दोगुनी कीमतों पर दिल्ली और हरियाणा में प्रतीक और गगन के माध्यम से अनधिकृत कॉल सेंटर, स्पैमर और साइबर अपराध धोखाधड़ी में शामिल लोगों को कार्ड बेचते थे। पुलिस ने बताया कि वीरेंद्र ने लगभग 50,000 ऐसे सिम कार्ड बेचे हैं। 

पुलिस उपायुक्त (उत्तर-पश्चिम) विजयंता आर्य ने कहा कि उसके खुलासे के आधार पर निशांत बंसल, प्रतीक और गगन को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद, पुलिस ने असम से सिम सप्लायर गोनी को गिरफ्तार किया। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here