Soybean benefits for health mt

25

Soybean Benefits: जब बात आती है प्रोटीन (Protein) से युक्त खाद्य पदार्थों  की तो सोयाबीन (Soybean) को भूला नहीं जा सकता. सोयाबीन प्रोटीन से भरपूर होते हैं. सोयाबीन में मांस से भी अधिक प्रोटीन पाया जाता है. यह एकमात्र ऐसी शाकाहारी (Vegetarian) चीज है जिसमें हमारे शरीर की जरूरत के सभी एमीनो-एसिड्स पाये जाते हैं. सोयाबीन को वेज-मीट भी कहते हैं क्योंकि और किसी भी शाकाहारी खाद्य पदार्थ में सभी एमीनो-एसिड्स इकठ्ठे नहीं मिलते. इसीलिये शाकाहारी लोगों को उन्हें आपस में मिक्स करके खाने की सलाह दी जाती है. पर सोयाबीन इस मामले में दूसरे सभी शाकाहारी खाद्य पदार्थों से अलग है.

सोयाबीन न केवल प्रोटीन से भरपूर होते हैं बल्कि इसमें विटामिन्स और मिनरल्स भी पाये जाते हैं. सोयाबीन सामान्य तौर पर खाये जाने के अलावा कई रोगों के उपचार में भी काम आता है. तो आइये जानते हैं thehealthsite के अनुसार सोयाबीन के फ़ायदों के बारे में.

प्रोटीन का सबसे बेहतर स्रोत है सोयाबीन

सोयाबीन में 38-40 प्रतिशत प्रोटीन, 22 प्रतिशत तेल, 21 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट, 12 प्रतिशत नमी और 5 प्रतिशत भस्म होती है.  जबकि इसकी तुलना में मांस में 26 प्रतिशत, अंडे में 13 प्रतिशत, मछली में 15 प्रतिशत, दालों में करीब 20 प्रतिशत और दूध में साढ़े तीन प्रतिशत के आसपास ही प्रोटीन पाया जाता है. साथ ही दूसरी शाकाहारी चीजों से हटकर सोयाबीन में शरीर की जरूरत के सभी एमीनो-एसिड्स भी होते हैं. इसलिये प्रोटीन के एक अच्छे स्रोत के तौर पर यह शाकाहारी लोगों के लिये किसी वरदान से कम नहीं.

ये भी पढ़ें: बालों में सोयाबीन ऑयल का मसाज देता है कई फायदे, विंटर हेयर केयर में जरूर करें शामिल

सोयाबीन के दूसरे फ़ायदे

सोयाबीन से हमें प्रोटीन तो अच्छी मात्रा में मिलता ही है इसमें विटामिन्स मिनरल्स और अन्य भी कई तत्व पाये जाते हैं. डॉक्टरों के मुताबिक इसे कई तरह के इलाज़ में भी इस्तेमाल किया जा सकता है. खासतौर पर शारीरिक दुर्बलता और बालों व त्वचा की तमाम समस्याएं दूर करने के लिये सोयाबीन कारगर सिद्ध होता है. सोयाबीन का इस्तेमाल बॉडी-बिल्डिंग के लिये बहुत अच्छा माना जाता है. यह शरीर में नई कोशिकाओं को बनाने के साथ ही क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत का काम भी करता है. सोयाबीन स्त्री-रोगों में भी काम आता है और इसके सेवन से शरीर में कुछ ऐसे हार्मोन्स निकलते हैं जो हमारे मानसिक संतुलन को बनाये रखने में काफी मददगार साबित होते हैं. इसमें प्रोटीन के साथ ही लगभग बीस फीसदी अच्छा फैट भी होता है, जो हमारे हृदय को स्वस्थ रखता है. यह हमारे मेटाबोलिज़्म को भी दुरुस्त रखता है. सोयाबीन में कैल्शियम की मात्रा भी अच्छी होती है जिससे हमारी हड्डियों को मजबूती मिलती है. साथ ही ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है.

ये भी पढ़ें: आंवले के बीज को ना समझें बेकार, पाउडर बनाकर खाने से होते हैं कई चमत्‍कारी फायदे

सोयाबीन खाने का तरीका

एक दिन में हम सौ ग्राम सोयाबीन खा सकते हैं. और इससे प्रोटीन की हमारी दिन भर की जरूरत का आधे से अधिक हिस्सा पूरा हो जाता है. सोयाबीन का इस्तेमाल गिरी या इसकी खली के रूप में किया जा सकता है. इसे अमूमन सब्जी के रूप में प्रयोग किया जाता है और इसके लिये पहले इसे पानी में भिगो दिया जाता है या फिर इसकी गिरी यानी सोयाबीन के दानों को रात भर पानी में भिगो कर सुबह इसे उबालकर भी खाया  जा सकता है. इससे यह न केवल सुपाच्य हो जाता है बल्कि इसकी कड़वाहट भी जाती रहती है. इसके अलावा आजकल सोया-मिल्क और सोया-कर्ड भी चलन में है.

Tags: Health, Health benefit, Lifestyle

Source link