SBI Is Giving You A Golden Chance To Buy Cheap Gold From Today, These Will Be Big Benefits, How To Buy Sovereign Gold Bond Scheme | SBI आज से दे रहा है सस्ता सोना खरीदने का मौका, होंगे ये बड़े फायदे

21

highlights

  • RBI ने गोल्ड बॉन्ड (SGB) के लिए इश्यू प्राइस 4,732 रुपये प्रति ग्राम तय किया हुआ है
  • SBI के जरिए गोल्ड बॉन्ड की खरीदारी पर 500 रुपये प्रति 10 ग्राम का डिस्काउंट दिया जा रहा है

नई दिल्ली :

Sovereign Gold Bond Scheme 2021-22 – Series VI: सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की छठी सीरीज की शुरुआत आज यानी सोमवार (30 अगस्त 2021) से हो रही है. कोई भी निवेशक 3 सितंबर 2021 तक गोल्ड बॉन्ड में निवेश कर सकता है. रिजर्व बैंक (RBI) ने गोल्ड बॉन्ड (SGB) के लिए इश्यू प्राइस 4,732 रुपये प्रति ग्राम तय किया हुआ है. गोल्ड बॉन्ड की खरीदारी के लिए ऑनलाइन या डिजिटल तरीके से पेमेंट करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम का डिस्काउंट ऑफर किया जा रहा है. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने Gold Bond में निवेश करने के बड़े फायदे बताए हैं. 

यह भी पढ़ें: ये बैंक सेविंग अकाउंट पर ऑफर कर रहे हैं 7 फीसदी तक ब्याज, जानिए पूरी डिटेल

SBI ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर लिखा है कि स्टेट बैंक के जरिए गोल्ड बॉन्ड की खरीदारी करने पर 500 रुपये प्रति 10 ग्राम का डिस्काउंट दिया जा रहा है. एसबीआई ने गोल्ड बॉन्ड में निवेश के लिए कई अहम वजह बताई है. एसबीआई का कहना है कि गोल्ड बॉन्ड में निवेश पर हर साल 2.5 फीसदी का ब्याज मिलेगा यानी कि निश्चित रिटर्न की गारंटी. वहीं गोल्ड बॉन्ड के रिडम्पशन पर कोई कैपिटल गेन टैक्स नहीं लगता है. गोल्ड बॉन्ड को कोलैटरल के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. गोल्ड बॉन्ड के लिए स्टोरेज की कोई भी समस्या नहीं है. एक्सचेंजों के ऊपर ट्रेड किया जा सकता है. फिजिकल गोल्ड के विपरीत गोल्ड बॉन्ड के ऊपर किसी भी तरह जीएसटी और मेकिंग चार्ज नहीं लगता है.

9 अगस्त से शुरू हुई थी पांचवी सीरीज की बिक्री 
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की पांचवी सीरीज की बिक्री 9 अगस्त से शुरू हुई थी. गोल्ड बॉन्ड की पांचवी सीरीज में निवेश करने के लिए एक यूनिट का मूल्य 4,790 रुपये तय किया गया था. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना 2021-22 सीरीज की पांचवी किस्त 13 अगस्त को बंद हुई थी. निवेशकों को 17 अगस्त को गोल्ड बॉन्ड जारी किए गए थे. ऑनलाइन आवेदन करने वाले और डिजिटल तरीके से पेमेंट करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट दी गई थी. छूट पाने वाले निवेशकों के लिए इश्यू प्राइस 4,740 रुपये प्रति ग्राम था. बता दें कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की चौथी सीरीज की बिक्री 12 जुलाई 2021 से शुरू हुई थी और 16 जुलाई 2021 को खत्म हुई थी. चौथी सीरीज के बॉन्ड का इश्यू प्राइस 4,807 रुपये प्रति ग्राम था.

यहां से खरीद सकते हैं गोल्ड बॉन्ड  
गोल्ड बॉन्ड की बिक्री स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (Stock Holding Corporation of India-SHCIL), चुनिंदा पोस्ट ऑफिस (Post Office), बैंकों, NSE और BSE के जरिए की जाती है. निवेशक इनमें से किसी भी एक जगह से गोल्ड बॉन्ड की खरीदारी कर सकते हैं. गौरतलब है कि इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड (IBJA) की ओर से पिछले 3 दिन 999 प्योरिटी वाले सोने के दाम के आधार पर गोल्ड बॉन्ड की कीमत तय होती है.

1 ग्राम तक भी खरीद सकते हैं सोना
सरकार ने सोने की मांग को कम करने और घरेलू बचत के एक हिस्से को वित्तीय बचत में बदलने के उद्देश्य से सरकारी स्वर्ण बांड योजना की शुरुआत नवंबर 2015 में की थी. गोल्ड बॉन्ड में वित्तीय वर्ष (अप्रैल-मार्च) में प्रति व्यक्ति न्यूनतम निवेश एक ग्राम है, जबकि अधिकतम सीमा 500 ग्राम है. व्यक्तिगत और हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) के लिए निवेश की अधिकतम सीमा 4 किलोग्राम और ट्रस्टों और संस्थाओं के लिए 20 किलोग्राम रखी गई है.

यह भी पढ़ें: एक्शन में RBI, 2 सहकारी बैंक समेत 1 NBFC पर लगाया जुर्माना

गोल्ड बॉन्ड खरीदने के फायदे
निवेशकों को कम से कम 1 ग्राम का बॉन्ड खरीदने की भी सुविधा मिलती है. निवेशकों को गोल्ड बॉन्ड के बदले लोन लेने की भी सुविधा है. पूंजी और ब्याज दोनों की सरकारी (सॉवरेन) गारंटी मिलती है. इंडिविजुअल को लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स नहीं देना होगा. कर्ज लेने के लिए गोल्ड बॉन्ड का इस्तेमाल कोलेट्रल के रूप में किया जा सकता है. इसके अलावा गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने पर टीडीएस (TDS) भी नहीं कटता है.



संबंधित लेख



Source link