राजधानी की सड़कें बनी वाहन पार्किंग

49

-सड़कों पर फैले अतिक्रमण से लोगों का आवागमन बाधित
घंटों जाम के झाम से कराहते वाहन,आखिर कब मिलेगी निजात
सड़कों पर फैले कारोबार से सिमट रही सड़कें

अजय सिंह चौहान/चंद्रप्रकाश सिंह /भास्कर न्यूज़
लखनऊ।राजधानी में आये दिन कारोबारियों के द्वारा अपने कारोबार के लिए सड़कों पर डिस्प्ले के रूप में लगाकर सड़कों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है।आने वाले त्योहारो के मद्देनजर रखते हुए दैनिक भास्कर की टीम ने शहर की हकीकत जानने के लिए ​विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण किया ।ऐसे में देखा जाय तो कहीं न कहीं नगर निगम के अधिकारियों की लापरवाही के चलते लोगों को जाम के झाम से निजात नहीं मिल पा रही।

 

अतिक्रमण की मुख्य वजह यह भी है कि कारोबारियों द्वारा भी अपने वाहनो को अपनी दुकान के सामने पर्किग स्थल बनाये जाने से जाम की समस्या आये दिन बनी रहती है। जबकि मल्टी लेवल पार्किंग खाली पड़ी हुई हैं। वहीं सब कुछ जानते-बूझते हुए जिम्मेदार अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। नगर निगम की तरफ से सड़कों पर पार्क होने वाले वाहनों के खिलाफ अभियान चलाया जाता है, लेकिन यह अभियान सिर्फ दिखावे के लिए चलता है।

 

बड़े स्तर पर अगर अभियान चलाया जाए तो स्वाभाविक रूप से लोगों को इस समस्या से निजात मिल सकती है। मल्टी लेवल पार्किंग के बावजूद सड़कों पर पार्क होते वाहन शहर के हर इलाके में जाम उत्पन्न कर रहे है।सड़कों के किनारे काफी संख्या में गाड़ी खड़ी नजर आती हैं। जबकि हर इलाके में मल्टी लेवल पार्किंग बनी हैं। बावजूद इसके गाड़ियां सड़कों पर पार्क की जाती हैं। पार्किंग में तमाम वाहनों के खड़ा करने की जगह भी रहती है, लेकिन लोग पैसा देकर गाड़ी पार्क करने की जगह सड़कों पर गाड़ियां पार्क करके चले जाते हैं। नगर निगम प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई न होने के चलते इनके हौसले बुलंद है और इसका खामियाजा आने जाने वाले लोगों को भुगतना पड़ता है।बता दें कि मड़ियांव थानांतर्गत इंजीनियरिंग कालेज चौराहा,60 फिट रोड,राम राम बैंक

 

चौराहा,अलीगंज के अंतर्गत मिस्टर ब्राउन बेकरी, श्याम स्वाद, महालक्ष्मी स्वीट, पुरनिया पुलिस चौकी के पास, कपूरथला, लाटूश रोड, इंदिरा नगर, मड़ियांव थाना चौराहा, टेढ़ी पुलिया,खुर्रमनगर, भूतनाथ, मुंशीपुलिया,डालीगंज, मेडिकल कालेज, बालागंज, ठाकुरगंज सहित शहर के सभी प्रमुख चौराहों पर सड़क पर ही वाहन खड़े नजर आएंगे।सड़क पर खड़े यही वाहन लोगों के लिए मुसीबत बन जाते हैं।

 

टेढ़ी पुलिया निवासी सलीम ने बताया कि अगर गाड़ियां पार्किंग में खड़ी हो तो जाम की समस्या से राहत मिल सकती है। लेकिन जब तक गाड़ियां सड़क पर खड़ी होती रहेंगी। सबको दिक्कत होगी। शिकायत के बाद भी नगर निगम की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। वहीं जानकीपुरम निवासी जितेंद्र कहते हैं, कि इसके कारण पैदल और साइकिल वालों को काफी दिक्कत होती है।

 

वहीं लाटूस रोड की बात की जाय तो मेडिसिन मार्केट में रोड पर गाड़ी खड़ी करके दवाओं की अनलोडिंग की जाती है।जिससे आने लोगों कैसरबाग चौराहे से रेंगते हुए सफर तय करना पड़ता है।ऐसे में कहीं इसी रास्ते से किसी को एम्बुलेंस जैसी इमर्जेंसी सेवा लेनी पड़ जाय तो वाहन को वहां तक पहुंचने में घंटो लग सकते है।ऐसी स्थिति न उत्पन्न हो उसके लिए शासन प्रशासन को मौके की हकीकत को देखते हुए,समस्या का निराकरण करने से लोगों को राहत मिलेगी ।

जिम्मेदार बोले

एडीसीपी ट्राफिक श्रवण कुमार ने बताया कि सड़कों पर हो रहे अतिक्रमण के लिए सभी को जागरूक होने की जरूरत है,तभी इससे निजात मिल सकती है।कहा कि सड़कों पर फैले अतिक्रमण के लिए नगर निगम अधिकारियों व व्यापारी संगठनो से बात की जायेगी और जल्द ही इसका निराकरण किया जायेगा।

 

नगर आयुक्त का नहीं उठा सीयूजी नंबर
नगर आयुक्त अजय द्विवेदी के सीयूजी नम्बर 8189077822 पर ​कई बार काल की गई कोई रिस्पांस नही रहा।यह व्यवस्था प्रदेश की राजधानी की है।