Rishabh Pant Childhood Coach Recalls Heartfelt Incident Says He Drove For An Hour And Knocked On My Door At Night | ऋषभ पंत के कोच का खुलासा, बताया

102

भारतीय क्रिकेट टीम के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने पिछले कुछ वक्त में अपने शानदार प्रदर्शन से टीम में अपनी जगह पक्की कर ली है. पंत अपनी विस्फोटक बैटिंग के लिये जाने जाते हैं. उन्होंने श्रेयस अय्यर के चोटिल होने के बाद आईपीएल 2021 में दिल्ली कैपिटल्स की कमान संभाली. कप्तानी और बल्लेबाजी दोनों से उन्होंने प्रभावित किया. हाल ही में भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा था कि पंत भविष्य में टीम इंडिया के कप्तान बन सकते हैं. ऐसे में आज हम आपको उनकी जिंदगी से जुड़ा एक किस्सा बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में उनके कोच ने खुलासा किया है.
 
ऋषभ पंत के बचपन के कोच तारक सिन्हा ने बताया कि पंत एक बार उनसे माफी मांगने के लिये रात को 3:30 बजे उनके घर आ गये थे. ऐसा पंत ने इसलिये किया था कि वह अपने कोच को निराश नहीं देख सकते थे. पंत रात को करीब 1 घंटे ड्राइव करके कोच के पास पहुंचे थे. ऋषभ पंत को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट तक पहुंचाने में उनके कोच ने अहम भूमिका निभाई. पंत के कोच ने बचपन में उनकी कई खामियों में सुधार किया. उत्तराखंड में जन्मे पंत ने अपने अधिकांश शुरुआती वर्ष दिल्ली के आइकॉनिक क्लब सॉनेट में बिताए, जहां पर सिन्हा मुख्य कोच थे.

ऋषभ पंत के कोच एक बार सॉनेट में एक नेट सेशन के दौरान उनसे काफी गुस्सा हो गये थे. जिसके बाद पंत पूरी रात सो नहीं पाए और लगभग 3:30 बजे अपने कोच तारक सिन्हा के घर पहुंच गये थे. सिन्हा ने क्रिकेट नेक्स्ट को बताया कि मैं वैशाली में रहता हूं और पंत दिल्ली में ठहरे थे. जहां से मेरा घर करीब एक घंटे की ड्राइव पर है.

उन्होंने कहा कि मैंने उससे पूछा कि इस वक्त किस कारण आए हो? तब पंत ने कहा कि मैं माफी मांगना चाहता हूं. क्योंकि मैं आपको निराश नहीं देखना चाहता हूं. वह पल मेरे दिल को छू गया था. हालांकि मैं परेशान भी हो गया था क्योंकि वह आधी रात को इतनी दूर से ड्राइव करके आया था. वास्तव में मेरा परिवार मुझसे गुस्सा हो गया था कि बच्चे पर इतनी कठोरता क्यों दिखाई.

Source link