reservation in promotion issue: maratha community is already unhappy with thackeray goverment: रिज़र्वेशन के मुद्दे पर पहले से मराठा समाज सरकार के रुख से नाराज़ है

94

हाइलाइट्स:

  • मराठा समाज ने समाज ने दी ठाकरे सरकार को चेतावनी
  • सरकार से प्रमोशन में रिज़र्वेशन के फैसले को वापस ना लेने की मांग
  • प्रमोशन में रिज़र्वेशन का फैसला वापस लिया गया तो होगा आंदोलन
  • रिज़र्वेशन के मुद्दे पर पहले से मराठा समाज सरकार के रुख से नाराज़ है

मुंबई
प्रमोशन में रिजर्वेशन के मुद्दे पर महाराष्ट्र सरकार बुरी तरह से फंसती हुई नजर आ रही है। प्रमोशन में रिजर्वेशन को रद्द करने के फैसले से जहां बैकवर्ड क्लास सरकार से नाराज है वहीं दूसरी तरफ मराठा क्रांति मोर्चा ने भी सरकार को चेतावनी देकर उनकी मुश्किलों को बढ़ा दिया है। मराठा क्रांति मोर्चा ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर उन्होंने प्रमोशन में रिजर्वेशन के आदेश को वापस लिया तो सड़क पर उतर कर आंदोलन किया जाएगा।

वीरेंद्र पवार की चेतावनी
महाराष्ट्र सरकार ने 7 मई को प्रमोशन में रिजर्वेशन रद्द करने की अधिसूचना निकाली थी। हालांकि सरकार ने इस फैसले के दौरान प्रमोशन में आरक्षण के लिए राज्य मंत्रिमंडल द्वारा बनाई गई उपसमिति को विश्वास में नहीं लिया था। इस प्रकार के भी आरोप सरकार पर लगाए गए हैं। मराठा क्रांति मोर्चा के कोऑर्डिनेटर वीरेंद्र पवार ने मांग की है कि सरकार अब इस फैसले को वापस ना ले। वरना मराठा क्रांति मोर्चा सड़क पर उतरकर आंदोलन करेगा।

नेताओं की जिद के चलते रद्द हुआ प्रमोशन में रिजर्वेशन
ओबीसी नेता प्रकाश शेंडगे ने आरोप लगाते हुए कहा है कि महा विकास अघाड़ी के नेताओं के जिद्दी स्वभाव के चलते प्रमोशन में आरक्षण रद्द हुआ है। पदोन्नति रोकने के इस फैसले का असर सिर्फ बैकवर्ड क्लास में पर ही नहीं बल्कि ओबीसी समाज पर भी पड़ेगा। पिछड़ा वर्ग की पदोन्नति रोकने का यह फैसला किसी कैबिनेट की बैठक में नहीं लिया गया, यह सबसे गलत और गंभीर बात है। महा विकास अघाड़ी सरकार के नेताओं की हठधर्मिता की वजह से यह जीआर निकाला गया। इस फैसले के लिए अजित पवार जिम्मेदार हैं उन पर कार्रवाई होनी चाहिए।

maratha kranti morcha

रिज़र्वेशन के मुद्दे पर पहले से मराठा समाज सरकार के रुख से नाराज़ है

Source link