Raebareli : पुलिस कस्टडी में हुई मौत के बाद लाश के पोस्टमॉर्टम के लिए डॉक्टरों की टीम गठित | rae-bareli – News in Hindi

34

रायबरेली में डीएम और एसपी से मिलकर निकलते मृतक के परिजन.

पुलिस मोनू को बाइक चोरी के मामले में घर से उठाकर तीन दिन पहले लाई थी. कल अचानक उसकी तबीयत बिगड़ने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

रायबरेली. सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के संसदीय क्षेत्र रायबरेली (Raebareli) में रविवार को एक शख्स की पुलिस कस्टडी (Police Custody) में मौत हो गई. उसके बाद से यह मामला लगातार सुर्खियों में बना है. मामला लालगंज कोतवाली क्षेत्र है. यहां बेहटा कला गांव के पूरे बैजू गांव के रहनेवाले मोहित उर्फ मोनू की मौत पुलिस कस्टडी में हो गई. मृतक मोनू के परिजनों ने इस मामले में प्रशानिक लापरवाही का आरोप लगाया है. इस मुद्दे पर मोनू के परिजनों ने जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव (District Magistrate Vaibhav Srivastava) और एसपी स्वप्निल ममगाई (SP Swapnil Mamgai) से उनके कार्यालय में आज मुलाकात की और मामले की निष्पक्ष जांच (Fair Investigation) की मांग की. जिले के आलाधिकारियों की मौजूदगी में जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने भी परिजनों को निष्पक्ष जांच कराने का आश्वासन दिया. साथ ही उन्हें शासन से राहत राशि (Relief Amount) मुहैया कराने के लिए पत्र भी लिखा.

बाइक चोरी के आरोप में तीन दिन पहले पकड़ा गया था आरोपी

बताते चलें कि रविवार को जिले के लालगंज कोतवाली क्षेत्र के बेहटा कला के पूरे बैजू गांव के मोहित उर्फ मोनू की पुलिस की अभिरक्षा में मौत हो गई थी. पुलिस मोनू को बाइक चोरी के मामले में घर से उठाकर तीन दिन पहले लाई थी. कल अचानक उसकी तबीयत बिगड़ने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी. मामले की सूचना मिलते ही ग्रामीणों व परिजनों ने पुलिस पर पिटाई करने का आरोप लगाया और उससे ही मोनू की मौत की बात कही. मामले को तूल पकड़ता देख आज जिला प्रशासन ने आनन-फानन मृतक के परिजनों को जिलाधिकारी कार्यालय में मिलने के लिए बुलाया और उनसे मामले की निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया. साथ ही उन्हें शासन से राहत राशि दिलाने का भी आश्वासन दिया.

पोस्टमॉर्टम के लिए डॉक्टरों की टीम गठितजिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि परिजनों को निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया गया है. साथ ही उन्हें शासन से राहत राशि दिलाए जाने के लिए पत्र भी लिखा गया है. डीएम से मृतक के परिजनों की मुलाकात के बाद सीएमओ डॉ संजय कुमार शर्मा ने तीन सदस्यीय डॉक्टरों की टीम बनाई, जिसमें डॉक्टर विपिन गुप्ता, डॉ जयंत सिंह और डॉ प्रदीप कुमार अग्रवाल को रखा गया है. यही टीम मोनू की लाश का का पोस्टमॉर्टम करेगी. जिलाधिकारी ने पोस्टमॉर्टम की वीडियोग्राफी करवाने के साथ आला अधिकारियों को भी मौजूद रहने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही डीएम वैभव श्रीवास्तव, एसपी ने मृतक के परिजनों को में पांच लाख रुपये देने का निर्णय लिया है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here