Poultry Industry Demands Duty Free Import Of 12 Lakh Tons Of Soyabean Meal-पोल्ट्री इंडस्ट्री ने की 12 लाख टन सोयाबीन मील शुल्क मुक्त आयात की मांग

50

ऑल इंडिया पोल्ट्री ब्रीडर्स एसोसिएशन (All India Poultry Breeders Association) ने सरकार से सोयाबीन मील शुल्क मुक्त आयात करने की इजाजत देने की मांग की है.

Poultry Industry (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • ऑल इंडिया पोल्ट्री ब्रीडर्स एसोसिएशन ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा
  • एसोसिएशन ने सरकार से कमोडिटी एक्सचेंज पर सोयाबीन की ट्रेडिंग पर रोक लगाने की अपील की

नई दिल्ली:

देश की पोल्ट्री इंडस्ट्री (Poultry Industry) ने केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार से 12 लाख टन सोयाबीन मील (Soybean Meal) ड्यूटी फ्री (Duty Free) यानी शुल्क मुक्त आयात करने की इजाजत देने की मांग की है. ऑल इंडिया पोल्ट्री ब्रीडर्स एसोसिएशन (All India Poultry Breeders Association) ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को एक पत्र लिखा. एसोसिएशन ने अपने पत्र में कहा कि सोयाबीन (Soybean) के दाम बढ़ने के कारण सोयाबीन मील के भाव में भारी इजाफा हो गया है जिसकी एक वजह सट्टेबाजी भी है. इसलिए एसोसिएशन ने सरकार से कमोडिटी एक्सचेंज (Commodity Exchange) पर सोयाबीन की ट्रेडिंग पर रोक लगाने की अपील की है. 

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार में डेयरी सेक्टर ने पकड़ी रफ्तार, 6 साल में 44 फीसदी बढ़ा दूध का उत्पादन

सोयाबीन के दाम में औसतन 50 फीसदी का इजाफा 
इंडस्ट्री ने बताया कि सोयाबीन के दाम में औसतन 50 फीसदी का इजाफा हुआ है जबकि सोया डीओसी के दाम में औसतन 40 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. एसोसिएशन (Association) ने कहा कि कोविड-19 लॉकडाउन (Covid-19 Lockdown) के दौरान पोल्ट्री कारोबार (Poultry Business) से जुड़े करीब 25 फीसदी किसानों को अपना काम पहले ही बंद कर दिया है और अगर सोया डीओसी (Soya DOC) से तैयार फीड की कीमतों में इसी तरह वृद्धि जारी रही तो बाकी किसानों को भी अपना कारोबार बंद करना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की नई जैव ऊर्जा नीति से किसानों की बढ़ेगी आय

कमोडिटी एक्सचेंज पर सोयाबीन की ट्रेडिंग पर रोक लगाने की मांग 
ऑल इंडिया पोल्ट्री ब्रीडर्स एसोसिएशन ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government) से 12 लाख टन ड्यूटी फ्री सोयाबीन मील आयात करने की इजाजत देने के साथ-साथ कमोडिटी एक्सचेंज (Commodity Exchange) पर सोयाबीन की ट्रेडिंग (Trading) पर रोक लगाने की भी मांग की है. 

यह भी पढ़ें: नोएडा में होगा Microsoft का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट, खरीदी जमीन

-इनपुट आईएएनएस

यह भी पढ़ें: चीनी उत्पादन में करीब 19 फीसदी की बढ़ोतरी, जानिए सबसे ज्यादा किस राज्य में हुआ प्रोडक्शन



संबंधित लेख

First Published : 03 Apr 2021, 08:35:53 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Source link