Police verification not done of servant who had involved in theft in sculptor Ram Sutar house

37

देश के प्रसिद्ध मूर्तिकार राम सुतार (Ram Sutar) के घर से 27 लाख रुपये और लाखों के आभूषण लेकर फरार होने वाले नौकर का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं हुआ था। जिस प्लेसमेंट एजेंसी ने नौकर को मूर्तिकार के घर भेजा था, उसने आरोपी का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं कराया था। अब पुलिस प्लेसमेंट एजेंसी संचालक के खिलाफ भी कार्रवाई कर सकती है। वहीं, वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी नौकर का कोई सुराग नहीं लगा है। पुलिस उसकी तलाश में कई जगह छापेमारी कर रही है।

मूर्तिकार राम सुतार नोएडा सेक्टर-19 में रहते हैं। उन्होंने छह दिन पहले दिल्ली की एक प्लेसमेंट एजेंसी ‘मेरी नीड’ के जरिये अपने घर पर ओडिशा के रहने वाले मदन मोहन को घरेलू नौकर के रूप में काम पर रखा था। नौ मार्च को परिवार के सभी लोग घर से बाहर थे। घर पर सिर्फ 92 वर्षीय मूर्तिकार राम सुतार अकेले थे। वह सो रहे थे। इसी बीच नौकर अलमारी का ताला तोड़कर करीब 27 लाख रुपये और लाखों के आभूषण चोरी कर फरार हो गया।

चोरी की जानकारी होने पर परिजनों ने मामले की सूचना सेक्टर-20 थाना पुलिस को दी। पुलिस ने जांच के दौरान दिल्ली की प्लेसमेंट एजेंसी के संचालक से पूछताछ की। पूछताछ में पता चला कि उस एजेंसी संचालक ने आरोपी मदन मोहन का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं कराया था। उसकी पहचान भी आरोपी के आधार कार्ड द्वारा हो सकी है। अब पुलिस एजेंसी संचालक के खिलाफ भी कार्रवाई करने की तैयारी में है।

वहीं, दूसरी तरफ वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ने अपना मोबाइल फोन बंद कर लिया है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। उसके रिश्तेदारों के बारे में पता लगाया जा रहा है। पुलिस को आशंका है कि आरोपी अपने रिश्तेदारों या परिचितों के पास छिपा हो सकता है।

Source link