इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में न्यू अर्बन इंडिया थीम के तहत तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन

23

5 अक्टूबर को प्रधान मंत्री करेंगे शुभारंभ

भास्कर न्यूज

लखनऊ।देश की आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर ’’न्यू अरबन इण्डिया थीम’’ के साथ आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार व नगर विकास विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है,
जिसमें देशभर से सभी राज्यों के नगर विकास मंत्री व विभिन्न विभागों के प्रमुख अधिकारी प्रतिभाग करेंगे। कार्यक्रम में भारत सरकार द्वारा नगरीय विकास से संबंधित विभिन्न विषयों पर सेमिनार एवं वेबीनार का आयोजन किया जायेगा। कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कर-कमलों द्वारा 5 को किया जायेगा।प्रदेश के नगर विकास नगरीय रोजगार व गरीबी उन्मूलन मंत्री आशुतोष टण्डन ने रविवार इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित प्रेसवार्ता में प्रेस प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए यह बात कही।
उन्होंने बताया कि आजादी के 75वें वर्ष पर 75 उत्कृष्ट हाउसिंग तकनीकों का प्रदर्शन किया जायेगा। साथ ही स्वच्छ भारत मिशन, अमृत मिशन व स्मार्ट सिटी मिशन, अर्बन ट्रांसपोर्ट आदि की परियोजनाओं के स्टाल की स्थापना की जायेगी। सेन्ट्रल पवेलियन के अन्तर्गत टच-पैनल स्क्रीन पर स्मार्ट सिटीज की आईसीसीसी परियोजनाओं का लाइव प्रसारण होगा। वर्चुअल साइकिल टूअर्स तथा फिजिकल मॉडल का प्रस्तुतीकरण किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय के शहरी मिशनों (अमृत, स्मार्ट सिटी, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी)) में अब तक की उपलब्धियों से सम्बंधित फिल्म का प्रर्दशन किया जायेगा।नगर विकास मंत्री ने बताया कि कार्यक्रम में प्रधानमंत्री द्वारा पीएमएआई-अर्बन के 75 जिलों के 75 हजार लाभार्थियों को डिजिटल माध्यम से चाभी का हस्तांतरण किया जायेगा एवं उनसे संवाद भी किया जायेगा।
साथ ही प्रधानमंत्री द्वारा पीएमएआई-अर्बन के 5 लाभाथियों से संवाद किया जायेगा। स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 10 स्मार्ट सिटीज की 75 सक्सेज स्टोरीज की कॉफी टेबल बुक का विमोचन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा स्मार्ट सिटी व अमृत कार्यक्रम के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश के विभिन्न 75 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया जायेगा।
इस दौरान प्रधानमंत्री द्वारा स्मार्ट सिटी के अन्तर्गत 1537.02 करोड़ की 15 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व 1256.22 करोड़ की 30 विकास परियेाजनाओं का शिलान्यास किया जायेगा। प्रधानमंत्री द्वारा अमृत मिशन के अन्तर्गत 502.24 करोड़ की  17 पेयजल परियोजनाओं का लोकार्पण व 1441.70 करोड़ की 13 परियोजनाओं का शिलान्यास किया जायेगा। इस प्रकार आजादी के 75 वें वर्ष के उपलक्ष्य में 4737.00 करोड़ की कुल 75 परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया जायेगा एवं प्रधानमंत्री द्वारा कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के विभिन्न शहरों में संचालन के लिए 75 इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जायेगा।नगर विकास मंत्री ने इस दौरान बताया कि ’’नये भारत का नया उत्तर प्रदेश-बदला नगरीय परिवेश’’ राज्य पवेलियन थीम होगी, जिसके अंतर्गत विभिन्न मिशनों का प्रस्तुतीकरण किया जायेगा, जिसमें स्टाल के केन्द्र में अयोध्या को प्रदर्शित करते हुए भव्य मॉडल का प्रदर्शन, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), स्वच्छ भारत मिशन, अमृत मिशन व स्मार्ट सिटी, अर्बन ट्रांसपोर्ट, राष्ट्रीय आजीविका मिशन, मेट्रो, आदि के स्टॉल की स्थापना की जायेगी।
स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत प्रदेश के विभिन्न शहरों में कार्यान्वित आईसीसीसी/आईटीएमएस परियोजना का शहरों से लाइव प्रस्तुतीकरण किया जायेगा। उत्तर प्रदेश का स्टॉल विकास में तकनीकी व उत्कृष्ट प्रयोग को प्रदर्शित करेगा।श्री टण्डन ने बताया कि उद्घाटन सत्र के उपरान्त  सेमिनार एवं वेबीनार के माध्यम से नगरीय विकास से संबंधित प्रौद्योगिकी पर चर्चा की जायेगी, जिसमें 04 सत्र आयोजित किये जायेंगे। पहले सत्र में मध्य-आय वाले घरों के लिए उपयुक्त नवीन निर्माण सामग्री और निर्माण प्रौद्योगिकियों का उपयोग, संसाधन, अवसर, बाधाएं और चुनौतियों विषय पर चर्चा होगी।
दूसरे सत्र में स्वदेशी/नवीन तकनीकों का उपयोग करते हुए प्रचार, प्रसार, प्रदर्शन और निर्माण के लिए रणनीति-कार्रवाई योग्य बिंदुओं पर चर्चा होगी। तीसरे सत्र में आवास सुधार, शहरी परिदृश्य के परिवर्तन को सक्षम करने विषय पर विचार-विमर्श होगा। चौथे सत्र में उत्तर प्रदेश में पीएमएवाई (यू)अपनाई गई रणनीतियां, क्षेत्र विशिष्ट केस स्टडीज, प्रमुख उपलब्धियॉ, सीख एवं आगे की राह विषय पर चर्चा की जायेगी।
उन्होंने बताया कि इस दौरान तकनीकी मूल्याकंन सत्र में तकनीकी मूल्यांकन समिति (टीईसी) और स्वदेशी और अभिनव प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के बीच सभी सत्रों के समानांतर विषय पर भी चर्चा होगी।
नगर विकास मंत्री ने बताया कि कार्यक्रम के दूसरे दिन 06 अक्टूबर को तीन सत्र आयोजित किये जायेंगे, जिसमें प्रथम सत्र में आवास पर संवाद वेबिनार – आवास क्षेत्र में प्रौद्योगिकी और नवाचार विषय पर परिचर्चा होगी तथा द्वितीय सत्र में उत्तर प्रदेश का शहरी रूपान्तरण विषय पर मन्थन होगा एवं तृतीय सत्र में तकनीकी मूल्यांकन समिति (टीईसी) और स्वदेशी और अभिनव प्रौद्योगिकी प्रदाताओं के बीच सभी सत्रों के समानांतर परिचर्चा होगी। उन्होंने बताया कि 07 अक्टूबर को विभिन्न परियोजनाओं के अन्तर्गत स्थापित प्रदर्शनियों का लोगों के अवलोकनार्थ खोल दिया जायेगा।
उन्होंने प्रेस प्रतिनिधियों को विभाग की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन व प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) परियोजना के क्रियान्वयन में देश में प्रथम स्थान पर है। पीएम स्वानिधि योजना के अन्तर्गत सर्वाधिक ऋृण वितरण में उत्तर प्रदेश को प्रथम स्थान प्राप्त है।
मेट्रो एवं इलेक्ट्रिक बस संचालन में देश के अग्रणी राज्यों व स्वच्छ भारत मिशन नगरीय में देश के टॉप 5 राज्यों तथा लाइट हाउस परियोजना के बेहतर क्रियान्वयन करने वाले देश के सर्वश्रेष्ठ 6 राज्यों में शामिल है। रेरा के अन्तर्गत भी उत्तर प्रदेश देश के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्यों में सम्मिलित है।इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव नगर विकास डा. रजनीश दुबे, विशेष सचिव नगर विकास डा0 इन्द्रमणि त्रिपाठी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।