ओरल कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है इसके लिए अच्छा खानपान का सेवन करना चाहिए -प्रो.जैन

27

निकोटिन कैंसर एजेंट्स को देता है बढ़ावा -प्रो.सूर्यवंशी

भास्कर न्यूज

लखनऊ।किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में ओरल कैंसर के विषय पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इससे बचाव से संबंधित अपने -अपने विचार साझा किए।बुधवार को पैरामेडिकल विज्ञान संकाय द्वारा प्रिवेंटिव एस्पेक्ट आफ ओरल कैंसर विषय पर गेस्ट लेक्चर का आयोजन किया गया ।कार्यक्रम में गेस्ट स्पीकर एडि.प्रो.पारिजात सूर्यवंशी, जनरल सर्जरी रहे ।इस अवसर पर पैरामेडिकल विज्ञान संकाय के अधिष्ठाता प्रो. विनोद जैन ने बताया कि हमें इस संसय में कभी नहीं रहना चाहिए कि ओरल कैंसर केवल बुजुर्गों या 40 वर्ष की उम्र के बाद के लोगों में होता है बल्कि किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकता है । इसलिए हमें अच्छे खान पान का सेवन करना चाहिए।तम्बाकू ,सिगरेट इत्यादि चीजों को हाथ लगाने से भी डरना चाहिए ।कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रो.सूर्यवंशी ने कहा कि लाइफ इज लाइक ए गेम आफ कार्ड , उन्होंने कहा की अगर कोई व्यक्ति दस साल से स्मोकिंग कर रहा हो तो छोड़ने के बाद उसे 10 साल नार्मल होने में लग जाते है ।उन्होंने यह भी बताया कि “नशा निकोटिन करता है , निकोटिन कैंसर नहीं करता है लेकिन निकोटिन कैंसर एजेंट्स को बढावा देता है, जिससे कैंसर होता है । केवल 20 सिगरेट पीने के बाद फेफड़े मे बदलाव दिखना शुरू हो जाता है ।उन्होने बताया स्क्रीनिंग करना और एजुकेशन सबसे ज्यादा प्रिवेंशन में हेल्प करते हैं ।कार्यक्रम का संचालन सोनिया शुक्ला द्वारा किया गया ।इस कार्यक्रम को सफल बनाने मे शिवांगम गिरी,अनामिका, श्याम,रमन एवं शिवानी सहित इन सभी ने योगदान दिया।