narayan rane gets bail: After 8 Hours in Custody, Narayan Rane Gets Bail: 8 घंटे की कस्‍टडी के बाद नारायण राणे को जमानत, उद्धव सरकार ने कहा- संदेश साफ है

42

नई दिल्ली
केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को देर रात जमानत मिल गई। उन्‍हें महाराष्‍ट्र पुलिस ने मंगलवार दोपहर करीब 2.25 बजे गिरफ्तार किया था। महाराष्ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ अभद्र बयान देने के मामले में राणे की गिरफ्तारी हुई थी। राणे को महाड कोर्ट में पेश किया गया। यहां उनके वकील ने स्‍वास्‍थ्‍य स्थितियों का हवाला देते हुए जमानत की अपील की। उनकी जमानत याचिका को कोर्ट ने स्‍वीकार कर लिया। राणे केंद्रीय सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्योग मंत्री हैं। जुलाई में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट से जुड़े थे।

राणे ने दावा किया था कि स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने संबोधन में ठाकरे यह भूल गए कि देश की आजादी को कितने साल हुए हैं। इसी संदर्भ में मंत्री ने विवादित बयान दिया। राणे ने रत्‍नाग‍िरी जिले में सोमवार को ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ के दौरान कहा, ‘यह शर्मनाक है कि मुख्यमंत्री को यह नहीं पता कि आजादी को कितने साल हो गए हैं। भाषण के दौरान वह पीछे मुड़कर इस बारे में पूछते नजर आए थे। अगर मैं वहां होता तो उन्हें एक जोरदार थप्पड़ मारता।’

Narayan Rane news: नारायण राणे के बयान से ऐतराज… खुद राज्‍यपाल कोश्‍यारी पर ऐसे हमलों पर तालियां बजाती रही है शिवसेना

इस बीच महाराष्ट्र सरकार के सूत्रों ने सीएनएन-न्यूज 18 को बताया, ‘विचार यह संदेश देना था कि कोई भी कानून से ऊपर नहीं है। राणे को जमानत मिलने से महाराष्‍ट्र सरकार को कोई समस्या नहीं है। केंद्रीय मंत्री के खिलाफ मामलों को आगे बढ़ाने का कोई इरादा नहीं है।’ सूत्रों ने बताया, ‘संदेश साफ है, अपमानजनक बयान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पद की गरिमा को बनाए रखा जाना चाहिए।’

Uddhav Thackeray Vs Narayan Rane: बहुत पुरानी है नारायण राणे और उद्धव ठाकरे की दुश्मनी…जानिए अदावत की पूरी कहानी
नासिक के पुलिस आयुक्त दीपक पांडे ने आपत्तिजनक बयान देने के मामले में मंगलवार को केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की तत्काल गिरफ्तारी के आदेश जारी किए थे। पुलिस के एक दल को कोंकण शहर के चिपलून रवाना कर दिया गया था। राणे के खिलाफ महाराष्ट्र के उत्तरी शहर में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद यह आदेश जारी किया गया था।

69 वर्षीय राणे ने उद्धव ठाकरे के पिता बाल ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना में अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया। उन्होंने 1990 में शिवसेना विधायक के रूप में महाराष्ट्र विधानसभा में प्रवेश किया। राणे ने 1999 में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभाला, लेकिन उनका कार्यकाल बहुत छोटा था। शिवसेना-भाजपा गठबंधन उसी वर्ष के अंत में राज्य का चुनाव हार गया था।

rane narayan

Source link