mumbai mayor trolled on twitter: my mobile phone was not with me said kishori pednekar: बीकेसी के कार्यक्रम के दौरान मेरा फोन कार्यकता के पास था

129

हाइलाइट्स:

  • मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर बैकफुट पर आईं
  • उन्होंने कहा कि मेरे कार्यकर्ता ने किया था विवादित ट्वीट
  • बीकेसी के कार्यक्रम के दौरान मेरा फोन कार्यकता के पास था
  • ट्वीट की जानकारी के बाद उसे मैंने डिलीट कर दिया था

मुंबई
मुंबई की मेयर के विवादित ट्वीट पर उन्होंने जवाब देते हुए कहा है कि रिप्लाई मैंने नहीं दिया था मेरा फोन मेरे एक कार्यकर्ता के पास में था बीकेसी के एक कार्यक्रम के दौरान मैंने अपना फोन में कार्यकर्ता को दिया था जैसे ही मुझे इस विवादित स्वीट के बारे में पता चला फौरन मैंने उसे डिलीट कर दिया इसके अलावा मैंने उस कार्यकर्ता को भी समझाया है शिव सैनिक के तौर पर उस कार्यकर्ता ने अपना गुस्सा व्यक्त किया था लेकिन वह सही नहीं था।

मेयर ने कहा कि बुधवार को एक यूजर ने ट्वीट कर पूछा था कि आपने एक करोड़ कोरोना टीके का ठेका किसे दिया है? उन्होंने कहा कि यह ट्वीट कटाक्ष के अंदाज में पूछा गया था। जिसका जवाब मेरे कार्यकर्ता ने मेरे टि्वटर हैंडल से कर दिया, ‘तेरे बाप को’।

क्या है पूरा मामला
देश की आर्थिक राजधानी और मायानगरी मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर फिलहाल एक ट्वीट कंट्रोवर्सी में फंस गई हैं। ट्विटर पर एक सवाल का असंयमित जवाब महापौर को काफी भारी पड़ गया है। दरअसल किशोरी पेडनेकर ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया था। इस इंटरव्यू में मुंबई के अंदर एक करोड़ वैक्सीनेशन को लेकर नौ कंपनियों का जिक्र था, जिनसे बीएमसी वैक्सीन खरीदने की कोशिश कर रही है।

इस ट्वीट के नीचे जब एक यूजर ने उनसे पूछा कि किन कंपनियों को कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है। तब जवाब में पेडणेकर के टि्वटर हैंडल से मराठी में लिखा गया तुझ्या बापाला यानी ‘आपके बाप को’।

किशोरी पेडनेकर और विवाद
यह कोई पहला मामला नहीं है जब मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर किसी विवाद में फंसी हों। इसके पहले भी वह ऐसे कई विवादों में फंस चुकी हैं और इसी प्रकार के बेहूदा बयान देकर सुर्खियां भी बटोर चुकी हैं। आइए आपको किशोरी पेडनेकर के कुछ विवादित बयानों से वाकिफ करवाते हैं।

पहला) इसी साल 2021 में अप्रैल के महीने में मेयर किशोरी पेडनेकर ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कहा था, ‘ कुंभ से लौटने वाले लोग कुरौना का प्रसाद बाटेंगे’। इस बयान के बाद भी उनकी जमकर आलोचना हुई थी।

दूसरा) मेयर किशोरी पेडनेकर ने महाराष्ट्र सरकार और अभिनेत्री कंगना के विवाद के दौरान भी विवादित बयान दिया था, तब उन्होंने कहा था, ‘ दरअसल मेयर ने कंगना के लिए ‘दो टके के लोग’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था। यह बात मेयर ने तब कही थी जब हाईकोर्ट ने बीएमसी के नोटिस को खारिज करते हुए एक्ट्रेस को मुआवजा दिलवाने के लिए नुकसान का आंकलन करवाने के निर्देश दिए थे।

भ्रष्टाचार के आरोप
विवादित बयान देने के अलावा किशोरी पेडनेकर के ऊपर पद का दुरुपयोग करके अपने बेटे और अन्य नजदीकी लोगों को बीएमसी के कॉन्ट्रैक्ट दिलवाने का आरोप भी बीजेपी के पूर्व सांसद और वरिष्ठ नेता किरीट सोमैया लगा चुके हैं।

Kishori Pednekar

विवादित बयान पर मेयर की सफाई

Source link