mansukh murder case: sanjay nirupam demands prove by nia against sanjay raut in sachin Waze case: राउत की जांच करके ही वझे के राजनीतिक आकाओं तक पहुंचा जा सकता है

35

हाइलाइट्स:

  • कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद संजय निरुपम ने संजय राउत के खिलाफ एनआईए जांच की मांग की
  • निरुपम ने कहा कि राउत जैसे बकबक करने वाले नेताओं की एनआईए को जांच करनी चाहिए
  • राउत की जांच करके ही वझे के राजनीतिक आकाओं तक पहुंचा जा सकता है
  • निरुपम ने कहा कि संजय राउत पहले वझे को सक्षम अधिकारी बता रहे थे

मुंबई
सचिन वझे (Sachin Waze) के मामले पर आप शिवसेना सांसद संजय राउत भी घिरते हुए नजर आ रहे हैं। कल तक वझे की वकालत करने वाले राउत अब अपने ही सहयोगी दल कांग्रेस के निशाने पर हैं।

कांग्रेस के नेता और पूर्व सांसद संजय निरुपम (Congress Leader Sanjay Raut) में राउत पर निशाना साधते हुए कहा, ‘ संजय राउत ने कहा है कि वह सचिन वझे की पुलिस में दोबारा बहाली के खिलाफ थे। हालांकि कल तक के वझे को ईमानदार और सक्षम अधिकारी बता रहे थे। फिर वे कौन से नेता थे जिनके कंधे पर चढ़कर वझे आया यह भी बताना पड़ेगा? राउत जैसे बकबक करने वाले करने वालों को उठाकर वझे के आकाओं तक पहुंचना चाहिए।

एनसीपी ने दिया जवाब
वझे मामले पर महाराष्ट्र सरकार की जमकर किरकिरी हो चुकी है। ऐसे में चौतरफा हो रहे सवालों के जवाब में नवाब मलिक (Minister Nawab Malik) ने कहा है कि सचिन वझे की बहाली कमिश्नर साहब ने की थी। सरकार के किसी मंत्री या मुख्यमंत्री के आदेश से उन्हें बहाल नहीं किया गया था। संजय राउत (Sanjay Raut) का यह कहना कि उन्होंने पार्टी के नेताओं को सचेत किया था, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है।

वझे के सहयोगी ने उगले राज
उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के पास विस्फोटक रखने के मामले में गिरफ्तार एपीआई सचिन वझे के सहयोगी अधिकारी रियाज काजी ने भी इस गुनाह में उसकी मदद की थी। इस बात की भी सबूत एनआईए को मिले हैं। वझे के कहने पर ही रियाज ने मुंबई के विक्रोली इलाके में कन्नमवार नगर में प्लेट बनाने वाली एक शॉप के आसपास के सीसीटीवी फुटेज को हासिल कर उसे नष्ट कर दिया था।

Source link