Man killed in front of pregnant wife by two men while searching for missing son in Delhi

48

राजधानी दिल्ली में कथित तौर पर नशे में धुत दो भाइयों ने अपने लापता बेटे को ढूंढ रहे एक 40 वर्षीय व्यक्ति की उसकी गर्भवती पत्नी के सामने लोहे की रॉड से पीट-पीट कर हत्या कर दी।

पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि ट्रक चालक कृष्ण कुमार मीणा को सिर में गंभीर चोटें आई थीं और सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना के संबंध में आरोपी भाइयों, धीरज अरोड़ा (29) और राकेश अरोड़ा (31) को गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने कहा कि दोनों भाई ओखला औद्योगिक क्षेत्र में ग्रामीण सेवा चलाते हैं। हालांकि, बाद में पुलिस ने पुल प्रह्लादपुर इलाके से लापता बच्चे का पता लगाने में भी कामयाबी हासिल कर ली। 

पुलिस के अनुसार, घटना गुरुवार देर रात मां आनंदमयी मार्ग पर हुई जब पप्पी देवी और उसके पति अपने सात वर्षीय लापता बेटे राहुल को तलाश कर रहे थे। जब उसके पति ने पास में खड़े दो लोगों से अपने लापता बच्चे के बारे में पूछताछ की तो वे चिढ़ गए और कृष्ण कुमार मीणा पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। यह देख जैसे ही पप्पी देवी मदद के लिए चिल्लाई दोनों हमलावर खून से लथपथ हालत में उसके पति को वहीं पर छोड़कर भाग गए।

गंदी बात करने के शौकीन अकाउंटेंट ने मालिक को लगाया 2 करोड़ का चूना

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पूर्व) आरपी मीणा ने कहा कि जब हमारी टीम मां आनंदमयी मार्ग पर गश्त कर रही थी, तो उन्होंने होंडा शोरूम चौक के पास रोती हुई एक गर्भवती महिला को देखा। वह घबरा गई हुई थी और उसका पति घायल अवस्था में सड़क पर पड़ा था। तब तक और लोग भी वहां जमा हो गए थी और हमारे स्टाफ ने उसे तुरंत इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल पहुंचाया।

पूछताछ के दौरान, पप्पी देवी ने पुलिस को घटना के बारे बताते हुए उन दोनों लोगों का हुलिया भी बताया जिन्होंने उसके पति के साथ मारपीट की थी। डीसीपी ने कहा कि महिला के बयान के आधार पर ओखला औद्योगिक क्षेत्र थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और 34 (सामान्य इरादे से आगे के कामों में किए गए) के तहत मामला दर्ज किया गया था और आरोपी को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे थे।

जांच के दौरान, पुलिस को एक सुरक्षा गार्ड से एक महत्वपूर्ण सुराग मिला, जिसने उन्हें बताया कि उसने एक व्यक्ति को भूरे रंग की शर्ट पहने देखा था, जो घटना स्थल से भाग गया था। उन्होंने कहा कि वो कभी-कभार सड़क पर पार्क किए गए ग्रामीण सेवा वाहनों के अंदर सोते थे। इसके बाद पुलिस ने एक आरोपी राकेश जो उक्त स्थान पर सो रहा था उसे पकड़ लिया।

वाहन चुराने वाले प्रोफेशनल शूटर सहित दो गिरफ्तार, चोरी 11 कारें बरामद

पूछताछ के बाद, राकेश ने इस घटना में अपने भाई धीरज की संलिप्तता का खुलासा किया और पुलिस ने पुल प्रह्लादपुर इलाके छापेमारी कर उसे धर दबोचा।

पूछताछ के दौरान, आरोपियों ने खुलासा किया कि जब यह घटना हुई वे नशे में थे और एक-दूसरे से बात कर रहे थे। इसी बीच पीड़ित उनके पास आया और अपने लापता बेटे के बारे में उनसे पूछने लगा।

उन्होंने कहा कि वह एक ही चीज के बारे में बार-बार पूछकर उन्हें परेशान कर रहा था। इससे वे चिढ़ गए और धीरज ने उसे पकड़ लिया, जबकि राकेश ने ग्रामीण सेवा से एक लोहे की रॉड लाकर उसके सिर पर मार दी। जब घायल युवक की पत्नी मदद के लिए चिल्लाई तो वे वहां से भाग गए। पुलिस ने कहा कि अपराध करने के लिए इस्तेमाल की गई खून से सनी हुई लोहे की रॉड भी बरामद कर ली गई है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here