Maharashtra Government News: Maharashtra Politics:ठाकरे सरकार और राज्यपाल में फिर ठनी, गवर्नर के दौरे घमासान – rift increased again between mahavikas aghadi government and governor bhagat singh koshyari

21

मुंबई
राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी के नांदेड़, हिंगोली, परभणी के तीन दिवसीय दौरे पर ठाकरे सरकार ने नाराजगी जताई है। उनके दौरे पर अल्पसंख्यक विभाग के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि राज्यपाल राज्य में दो सत्ता केंद्र का बनाने की कोशिश कर रहे हैं, जो ठीक नहीं है।

मंगलवार को मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मलिक ने कहा कि सरकारी काम में राज्यपाल की ओर से बार-बार हस्तक्षेप हो रहा है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि राज्यपाल को यह समझना होगा कि वे मुख्यमंत्री नहीं राज्यपाल हैं। मलिक ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक में हुई चर्चा का संदेश लेकर मुख्य सचिव राजभवन जाकर राज्यपाल के सचिव से मिलेंगे और उन्हें उनके अधिकारों के बारे में बताएंगे।

राज्यपाल के उद्घाटन करने से नाराज
राज्यपाल की ओर से 3 दिवसीय कार्यक्रम की घोषणा की गई है। उनके कार्यक्रम पर मलिक ने कहा कि नांदेड में राज्य सरकार के अल्पसंख्यक विभाग की तरफ से लड़के और लड़कियों के लिए दो छात्रावास का निर्माण कार्य पूरा हो गया है, परंतु अभी तक उसे विश्वविद्यालय के हवाले नहीं किया गया है। इसका उद्घाटन राज्यपाल करने जा रहे हैं। इसे विश्वविद्यालय को देने का अधिकार राज्य सरकार का है।

नांदेड में करेंगे समीक्षा बैठक
राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी 5 अगस्त को राज्यपाल नांदेड़ जिला कलेक्टर कार्यालय में जिला कलेक्टर एवं अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। 6 अगस्त को हिंगोली में जहां विश्वविद्यालय नहीं है, तब भी समीक्षा बैठक करेंगे। उनका 7 अगस्त को परभणी कृषि विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम आयोजित करने का कार्यक्रम भी है। वहां के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी करेंगे। इस पर मलिक ने कहा कि राज्य सरकार, खासकर मुख्यमंत्री के अधिकार लेना योग्य नहीं है।

Source link