Know these 5 secrets, which are necessary for good sleep

89

दिन भर फ्रेश महसूस करने के लिए जरूरी है अच्छी नींद आए. Image/Shutterstock

अच्‍छी नींद न आने की वजह से कई तरह की शारीरिक और मानसिक समस्याओं (Physical And Mental Problems) का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में सेहतमंद (Healthy) रहने को पर्याप्‍त नींद लेना जरूरी है.

अच्छी नींद (Good sleep) स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरूरी है. खुद को सेहतमंद (Healthy) रखने और दिन भर सक्रिय (Active), फ्रेश महसूस करने के लिए बेहतर तरीका यही है कि रात में अच्छी नींद आए. अक्‍सर जब लोग पूरी नींद नहीं ले पाते, तो उन्हें कई तरह की शारीरिक और मानसिक समस्याओं Physical And Mental Problems) का सामना करना पड़ता है. तो वहीं कुछ लोग तनाव, चिंता की स्थिति में नहीं सो पाते. ऐसे में कुछ लोग नींद की गोलियों का विकल्‍प चुनते हैं, लेकिन इसके अलावा भी कुछ बेहद आसान उपाय अपनाकर आपको अच्‍छी नींद आ सकती है.

एक हो सोने और जागने का समय
नींद का एक समय बनाएं. हर दिन तय समय पर सोने और जागते रहने से दिन में उनींदापन और चिड़चिड़ापन नहीं होगा. आप बेहतर महसूस करेंगे. एक वयस्क को 7-8 घंटे की नींद की जरूरत होती है. शुरुआत में आपको इसमें दिक्‍कत हो सकती है, मगर एक ही समय पर सोने और जागने से आपके शरीर को इसकी आदत हो जाएगी. बेहतर नींद के लिए सोने से पहले गर्म पानी से स्‍नान कर सकते हैं. कोई पसंदीदा किताब पढ़ सकते हैं. ये अच्‍छी नींद लाने में मदद कर सकते हैं. वहीं सोने से पहले टीवी, मोबाइल फोन देखना, वीडियो गेम खेलने जैसी मानसिक रूप से थका देने वाली गतिविधियों से बचना चाहिए.

ये भी पढ़ें – ओवर-ईटिंग बना सकती है आपको बीमार, ये 7 टिप्‍स दिलाएंगे छुटकाराबेडरूम का माहौल बेहतर बनाएं

मद्धम रोशनी, शांत वातावरण और कमरे में फैली हल्‍की खुश्‍बू नींद को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं. अंधेरा मस्तिष्क को बताता है कि यह सोने का समय है. वहीं सुगंधित मोमबत्तियां माहौल को बेहतर बनाती हैं. इससे अच्‍छी नींद आती है.

जरूरी है आरामदायक गद्दा-तकिया
यह जरूर देखें कि आपका गद्दा आरामदायक और अच्छी नींद लाने में सहायक हो. एक अच्छी गुणवत्ता वाले गद्दे को चुनें. वहीं गर्दन को आराम देने वाला ऐसा तकिया जो आराम दे, होने चाहिए. वहीं एक इलेक्ट्रिक बॉडी मसाज बेड आपके पूरे शरीर को आराम दे सकता है.

बेडरूम का तापमान सेट करें

आपके बेडरूम का तापमान संतुलित होना चाहिए. यानी यह बहुत गर्म या बहुत ठंडा न हो. यह नींद को गंभीरता से प्रभावित कर सकता है. एम रेडिफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक विशेषज्ञ रात में बेडरूम का तापमान 20 से 24 डिग्री सेल्सियस के बीच रखने का सुझाव देते हैं.

ये भी पढ़ें – इन 5 आसान उपायों से दूर होंगे स्ट्रेच मार्क्स, जानें कैसे

दूर करें खर्राटों की समस्‍या
खर्राटे एक सामान्य स्थिति है, जो किसी को भी प्रभावित कर सकती है. हालांकि यह पुरुषों और अधिक वजन वाले लोगों में अधिक होता है. खर्राटे आमतौर पर बहुत गंभीर नहीं होते हैं, लेकिन आदतन खर्राटे खुद और उनके आस पास के अन्य लोगों की नींद को खराब जरूर करते हैं. ऐसे में इसका बेहतर उपचार जरूरी है. इसके लिए जीवन शैली में बदलाव आदि इसे रोकने में मददगार हो सकते हैं.






Source link