IPL Brand Value Face Downfall For The First Time In Past Six Years

57

IPL 2021: कोरोना वायरस की वजह से पिछला साल खेल जगत के लिए बेहद ही चुनौतीपूर्ण रहा. कोविड 19 के कारण ही इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन का आयोजन तय समय से 6 महीने की देरी पर हुआ. इस साल भी महामारी के चलते आईपीएल को भारी नुकसान झेलना पड़ा है. आईपीएल की ब्रांड वैल्यू में पिछले 6 साल में पहली बार गिरावट दर्ज की गई है. डफ एंड फेलप्स की रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है कि आईपीएल की इकोसिस्टम वैल्यू 2020 में 3.6 फीसदी घटी है.

एक स्टडी के मुताबिक पिछले साल आईपीएल इकोसिस्टम वैल्यू 2019 में 47500 करोड़ रुपये की तुलना में इस बार 45,800 करोड़ रुपये रहा, जिसमें करीब 3.6 फीसदी का घाटा देखा गया. नुकसान झेलने वालों में आईपीएल की सभी टीमें भी शामिल हैं. ऐसा माना जा रहा है कि कोविड 19 की वजह से टीमों को मिलने वाली स्पॉन्सरशिप कम हो गई है.

टीमों की वैल्यू भी गिरी

घाटे के बावजूद मुंबई इंडियंस लगातार पांचवें साल फ्रेंचाइजी ब्रांड रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर रहा. हालांकि 2019 की तुलना में 2020 में मुंबई की ब्रांड वैल्यू में 5.9 फीसदी की कमी देखने को मिली. मुंबई की ब्रांड वैल्यू 2019 में 809 करोड़ रुपये थी जो 2020 में घटकर 761 करोड़ रुपये रही.

चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स की ब्रांड वैल्यू में क्रमश: 16.5 फीसदी और 13.7 फीसदी का घाटा देखने को मिला. चेन्नई की ब्रांड वैल्यू 2019 में 732 करोड़ रूपये थी जो 2020 में घटकर 611 करोड़ रूपे रह गई. कोलकाता की ब्रैंड वैल्यू 2019 में 629 करोड़ रूपये थी जो 2020 में घटकर 543 करोड़ रुपये रहा. फ्रेंचाइजी ब्रांड वैल्यू में चेन्नई दूसरे और कोलकाता तीसरे स्थान पर है.

इस बीच रॉयल चेलेंजर्स बेंगलुरु 9.9 फीसदी, सनराइजर्स हैदराबाद 8.5 फीसदी, दिल्ली कैपिटल्स 1.0 फीसदी, पंजाब किंग्स 11.3 फीसदी और राजस्थान रॉयल्स की ब्रांड वैल्यू में 2020 में 8.1 फीसदी का घाटा देखने को मिला.

बता दें कि आईपीएल की ब्रांड वैल्यू कम होने की एक वजह पिछले सीजन और इस सीजन का आयोजन मैदान पर बिना दर्शकों के होना है.

WI Vs SL: पोलार्ड ने डाइव लगाकर पकड़ा कमाल का कैच, अच्छी शुरुआत के बाद लड़खड़ाई श्रीलंकाई पारी

Source link