International Yoga Day 2022: फेफड़ों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए करें इन 4 योगासनों का अभ्यास

15

Yoga for Healthy Lungs: आज (21 जून) दुनियाभर में ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ 2022 सेलिब्रेट किया जा रहा है. आज के दिन हर कोई योग में लीन होकर कई तरह के योग का अभ्यास करता है. योग का नियमित अभ्यास करने से शारीरिक और मानसिक रूप से लाभ होता है. साथ ही योग शरीर के कई अंगों को स्वस्थ और मजबूत रखने में भी मदद करता है. कोरोना महामारी के शुरू होने के बाद से अधिकतर लोगों को फेफड़ों, सांस संबंधित समस्याएं हुई हैं. इसकी वजह से लोगों की मौत भी हुई है. यदि आप चाहते हैं कि आपका फेफड़ा स्वस्थ और निरोग रहे, तो यहां हम बता रहे हैं 4 प्रकार के योगासन, जो फेफड़ों को मजबूती देते हैं, उन्हें स्वस्थ रखते हैं. बेंगलुरु स्थित अक्षर योग अनुसंधान एवं विकास केंद्र के संस्थापक, हिमालय सिद्ध, अक्षर ने बताए फेफड़ों के लिए चार मुख्य योगासन.

स्वस्थ फेफड़ों के लिए योगासन

सांस जीवन की शक्ति है और अच्छी तरह से सांस लेने की शक्ति के बिना हम जीवन का भरपूर आनंद नहीं ले सकते हैं. आंनदमय एवं सक्रिय जीवन जीने के लिए हमें स्वस्थ फेफड़ों एवं श्वसन प्रणाली की आवश्यकता होती है. नीचे दिए गए चार आसनों का नियमित रूप से अभ्यास करने से हम इनके लाभों का अनुभव कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2022: मानसिक सेहत रहेगी दुरुस्त, जब नियमित करेंगे एक्सपर्ट के बताए ये 4 योगासन

भुजंगासन हेल्दी लंग्स के लिए है बेहतर योगासन

भुजंगासन या कोबरा पोज की शुरुआत पेट के बल लेटकर करें और दोनों हथेलियों को कंधों के नीचे रखें. अपने पैरों को एक साथ रखने की कोशिश करें और सिर, कंधे, छाती को तब तक ऊपर उठाएं जब तक कि नाभि फर्श पर न हो. सांस छोड़ें और धीरे से नीचे की ओर आएं. इस आसन को 3 से 4 बार कर सकते हैं.

धनुरासन करें फेफड़ों को मिलेगी मजबूती

पेट के बल लेट जाएं और दोनों पैरों को अपनी हथेलियों से पकड़ें. सांस भरते हुए धीरे से निचले शरीर को ऊपर उठाएं और साथ ही छाती को जितना हो सके ऊपर उठाने की कोशिश करें. ठुड्डी को ऊपर की ओर उठाएं और जब तक सहज लगे, तब तक इस आसन में रहें.

इसे भी पढ़ें: International Yoga Day 2022: युवाओं को डिप्रेशन, तनाव से बाहर निकालने में कारगर हैं ये आसन

चक्रासन लंग्स को रखे स्वस्थ

चक्रासन यानी व्हील पोज का अभ्यास करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं. हथेलियों को कानों के नीचे रखकर उल्टा कर लें. श्वास लेते हुए श्रोणि को ऊपर की ओर उठाएं और भुजाओं को जितना हो सके सीधा करने का प्रयास करें, ताकि हमारे शरीर के साथ एक पहिये का आकार बन सके.

अर्धचंद्रासन से फेफड़े रहेंगे निरोग

अर्धचंद्रासन या हाफ मून पोज करने के लिए हथेलियों के बीच में किसी भी पैर से शुरू करें और दूसरे पैर के साथ घुटने को नीचे रखते हुए दोनों हाथों को ऊपर उठाएं और धीरे से जितना हो सके उतना पीछे झुकें. यह सुनिश्चित करते हुए कि हम अपनी श्रोणि को फर्श की ओर नीचे धकेल रहे हैं.
योग में ये चार आसन विशेष रूप से हमारे श्वसन अंगों के कामकाज में सुधार करते हैं. यह पीछे झुकने वाले आसन हैं, इसलिए यह बेहद ज़रूरी है कि आप अपनी पीठ के लिए पूरी तरह से वार्मअप करने के साथ ही अपना अभ्यास शुरू करें.

Tags: Benefits of yoga, Health, International Yoga Day, Lifestyle

Source link