उदासीनता–अधिकारियों ने नहीं सुनी तो किसानों ने श्रमदान कर खुद साफ की किरेला ड्रेन 

17

भास्कर न्यूज

मोहनलालगंज, लखनऊ। पिछले दिनों हुई बारिश के कारण सैकड़ों बीघा फसल बरबाद हो गई। किसान तबाह हो गये। लेकिन खेत में भरा पानी नहीं निकाला जा सका। लिखित प्रार्थना पत्र देने के बाद भी जब समस्या समाधान न हुआ और मोहनलालगंज के अधिकारियों ने न सुनी तो किसानों ने खुद श्रमदान कर नाला साफ किया।


आपको बताते चलें हुलासखेड़ा रायभान खेड़ा गणेशखेड़ा खुजहता गौरिया सहित कई गांव के किसान खेत में बरसात का पानी भर जाने से तबाह हो गये। पानी निकलने के लिये बनी किरेला ड्रेन खरपतवार से पटी होने के कारण पानी नहीं निकल पा रहा था।

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के लखनऊ जिलाध्यक्ष दिनेश यादव ने इसकी शिकायत 29 सितंबर को बीडीओ अजीत सिंह से की लेकिन कोई फायदा न हुआ। हालांकि बीडीओ ने तकनीकी सहायक रामजीत पटेल को लिख दिया था पर प्रगति शून्य रही। निराश होकर संगठन के किसानों ने श्रमदान करके गुरुवार को नाला साफ किया।

जिम्मेदार बोले
मनरेगा से इसकी सफाई कराना संभव नहीं है। सिंचाई विभाग का मामला है। तकनीकी सहायक द्वारा मौके पर की गई। जांच में सामने आया कि इसकी सफाई पहले सिंचाई विभाग जेसीबी से करवा चुका है।जिसका बोर्ड भी मौके पर लगा हुआ है।
अजीत कुमार सिंह
बीडीओ-मोहनलालगंज