India US: Narendra Modi Joe Biden Meeting | Indian Community Indian Diaspora Enjoy Outside White House | कई भारतीय छुट्टी लेकर व्हाइट हाउस के आगे जुटे, कुचीपुड़ी नृत्य भी हुआ; कुछ ने कहा- मोदी लिखेंगे नई कहानी

14
  • Hindi News
  • International
  • India US: Narendra Modi Joe Biden Meeting | Indian Community Indian Diaspora Enjoy Outside White House

वॉशिंगटन10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार रात अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात की। करीब एक घंटे चली इस मुलाकात का भारतीय-अमेरिकियों को बेसब्री से इंतजार था। इसके पहले बराक ओबामा और डोनाल्ड ट्रम्प व्हाइट हाउस में मोदी का स्वागत कर चुके हैं। कोविड के चलते इस बार प्रधानमंत्री का कोई सार्वजनिक कार्यक्रम या पब्लिक गैदरिंग नहीं थी। इसके बावजूद भारतीय मूल के सैकड़ों लोग व्हाइट हाउस के बाहर जुटे। इन लोगों में दुनिया के दो महान लोकतांत्रिक देशों के नेताओं की मुलाकात को लेकर खासा उत्साह देखा गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन से पहले ही व्हाइट हाउस के सामने भारतीय मूल के लोगों की भीड़ लग गई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन से पहले ही व्हाइट हाउस के सामने भारतीय मूल के लोगों की भीड़ लग गई थी।

लॉन्ग ड्राइव और छुट्टी लेकर पहुंचे भारतीय
टीवी चैनलों से बातचीत में कुछ लोगों ने बताया कि वे छुट्टी लेकर वॉशिंगटन डीसी आए हैं। इन लोगों को उम्मीद थी कि प्रधानमंत्री मोदी उनसे मिल सकते हैं, हालांकि कोविड और प्रोटोकॉल की वजह से ऐसा मुमकिन नहीं हो सका, इससे कुछ निराशा जरूर थी। कुछ लोगों का कहना था कि उन्होंने न सिर्फ छुट्टी ली, बल्कि इसके बाद वे सपरिवार लॉन्ग ड्राइव करके व्हाइट हाउस पहुंचे हैं।

व्हाइट हाउस पहुंचने वाले लोगों में कुछ कारोबारी भी शामिल थे। इन लोगों के मुताबिक, कोविड के चलते उनके बिजनेस पर काफी असर पड़ा है, लेकिन उम्मीद यही है कि कुछ वक्त बाद चीजें पटरी पर लौट आएंगी। कुछ नौकरीपेशा लोग भी थे। इन लोगों का कहना है कि अगर उन्हें प्रधानमंत्री से मिलने का मौका मिला तो वे चाहेंगे कि उनसे वीजा संबंधी मामलों पर बातचीत करें।

भारतीय मूल की महिलाएं भी बड़ी तादाद में सज-धज कर व्हाइट हाउस परिसर में पहुंची थीं।

भारतीय मूल की महिलाएं भी बड़ी तादाद में सज-धज कर व्हाइट हाउस परिसर में पहुंची थीं।

गीत-संगीत का माहौल
भारतीय मूल के ज्यादातर लोग पारंपरिक भारतीय वेशभूषा में ही नजर आए। यहां ढोल की थाप सुनाई दी, तो गरबा भी दिखा। इसके अलावा भांगड़ा भी नजर आया। कुल मिलाकर उत्सव का माहौल था। लोगों का कहना था कि अगर कोविड संबंधी दिक्कतें नहीं होतीं तो प्रधानमंत्री उनसे मुलाकात करने जरूर आते। मोदी के लगभग हर अमेरिकी दौरे में उनका सार्वजनिक भाषण जरूर होता आया था। इसकी व्यवस्था इंडियन डायस्पोरा ही करता रहा है। हालांकि, इस बार ये मुमकिन नहीं हो सका।

कुछ लोगों का कहना था कि वैक्सीन सप्लाई को लेकर भारत सरकार ने जो फैसले किए हैं, उससे दुनिया और खासकर अमेरिका में भारत का कद बढ़ा है। हालांकि ये लोग इस बात के लिए फिक्रमंद भी दिखे कि भारत में दूसरी लहर के दौरान हालात बेहद खराब हो गए थे और उसे भविष्य के लिए सतर्क रहना होगा।

खालिस्तानी समर्थक भी व्हाइट हाउस के सामने पहुंच गए। इस दौरान उनकी मोदी के स्वागत के लिए पहुंचे भारतीय मूल के लोगों से बहस भी हुई।

खालिस्तानी समर्थक भी व्हाइट हाउस के सामने पहुंच गए। इस दौरान उनकी मोदी के स्वागत के लिए पहुंचे भारतीय मूल के लोगों से बहस भी हुई।

सारे जहां से अच्छा
यहां मौजूद कुछ महिलाओं ने सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा… भी गाया। इसके बाद इन्हीं महिलाओं ने छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी। नए दौर में लिखेंगे मोदी नई कहानी…गुनगुनाया। इसमें गीत के बोल बदल दिए गए थे।

यहां मौजूद महिलाओं के एक और समूह ने कुचीपुड़ी नृत्य पेश किया। ये महिलाएं इस भारतीय शास्त्रीय नृत्य के दौरान पहनी जाने वाली पारंपरिक वेशभूषा में थीं। व्हाइट हाउस के सामने जुटे भारतीय मूल के लोगों में कुछ बच्चे भी नजर आए।

खबरें और भी हैं…

Source link