India Permits Onion Export To Bangladesh On Special Consideration-भारत से बांग्लादेश होगा प्याज का एक्सपोर्ट, जानिए कैसे मिली निर्यात की अनुमति

60

नाम न जाहिर किए जाने की शर्त पर एक सूत्र ने कहा कि भारत सरकार ने विशेष विचार पर बांग्लादेश को 25,000 टन प्याज निर्यात करने का निर्णय लिया है. ऐसा भारत ने अपने सबसे करीबी मित्र बांग्लादेश को सहयोग प्रदान करने के खातिर किया है.

IANS | Updated on: 19 Sep 2020, 02:08:35 PM

प्याज (Onion) (Photo Credit: IANS )

ढाका :

भारत सरकार (Indian Government) ने बांग्लादेश (Bangladesh) को 25,000 टन प्याज के निर्यात (Onion Export) की विशेष अनुमति प्रदान की है, जो स्थानीय व्यापारियों के मुताबिक, देशों के सीमा क्षेत्र में पांच ट्रकों में बंद पड़ा था. इस फैसले की घोषणा शुक्रवार रात को की गई, जिसे रविवार से लागू किया जाएगा. नाम न जाहिर किए जाने की शर्त पर एक सूत्र ने कहा कि भारत सरकार ने विशेष विचार पर बांग्लादेश को 25,000 टन प्याज निर्यात करने का निर्णय लिया है. ऐसा भारत ने अपने सबसे करीबी मित्र बांग्लादेश को सहयोग प्रदान करने के खातिर किया है.

यह भी पढ़ें: ये हैं कृषि क्षेत्र के वो तीन विधेयक जिनपर देशभर में मचा हुआ है बवाल, यहां जानिए किन मुद्दों पर हो रहा है विरोध

14 सितंबर को भारत द्वारा प्याज के निर्यात पर लगा था प्रतिबंध
14 सितंबर को भारत द्वारा प्याज के निर्यात पर आकस्मिक प्रतिबंध लगाए जाने के बाद बांग्लादेश में प्याज के बाजार में हलचल की स्थिति पैदा हो गई क्योंकि इसकी कीमतें अचानक बढ़ानी पड़ गई. पिछले सिंतबर में भी भारत द्वारा इसी तरह का प्रतिबंध लगाया गया था और इसका भी तात्कालिक प्रभाव यहां के बाजारों में देखने को मिला था. बांग्लादेश में प्याज की कीमतें 40 टका प्रति किलो से बढ़कर 300 टका प्रति किलो तक बढ़ गई, जिसे देखते हुए मंगलवार को बांग्लादेश में भारतीय उच्चायोग को लिखे एक पत्र में ढाका के विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्याज के निर्यात पर अचानक प्रतिबंध लगाया जाना एक गहरी चिंता का विषय है और इससे अन्य आवश्यक खाद्य सामग्रियों पर प्रतिबंध को लेकर पहले हो रही चर्चाएं भी थम गई है.

यह भी पढ़ें: भारतीय अर्थव्यवस्था को उबारने में मददगार साबित हो सकता है बांस उद्योग

इस बीच, खुदरा विक्रेताओं द्वारा ढाका और चटगांव में थोक विक्रेताओं की तुलना में प्याज की बिक्री प्रति किलो के हिसाब से 10-20 टका अधिक कीमत लगाकर की जा रही थी. उपभोक्ताओं ने कहा कि प्रशासन द्वारा बाजार की देखरेख सही से न होने के अभाव में कुछ विक्रेताओं ने कीमतें बढ़ा दी है. इस बीच, बांग्लादेश के वाणिज्य मंत्री टीपू मुंशी ने कहा है कि एक बार प्याज के स्टॉक में बढ़ोत्तरी हो जाने के बाद सरकार इस मूल्य वृद्धि के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करेगी.

संबंधित लेख



First Published : 19 Sep 2020, 02:03:28 PM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here