Health news if you are troubled by acidity then follow these tips tell the experts

19

Acidity troubling: हमारे खाने की आदतें, अधिक खाना, नींद में अनियमितता, इन सभी वजहों से हमें पेट संबंधी तकलीफें हो सकती हैं. जैसे ऐंठन और एसिडिटी (Acidity). अपने लाइफस्टाइल और खाने की आदतों में मामूली सुधार से ही हम एसिडिटी की समस्या से निजात पा सकते हैं. एसिडिटी की समस्या अगर ज्यादा गंभीर नहीं है तो इसे घरेलू उपाय से भी ठीक किया जा सकता है. आयुर्वेदाचार्य और न्यूट्रिशनिस्ट (Nutritionist and Ayurvedic practitioner) जूही कपूर (Juhi Kapoor) ने ऐसे ही कुछ हेल्थ टिप्स सुझाए हैं, जिनको अपने जीवन में शामिल कर हम एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं. वो कहतीं हैं, ‘अधिकतर मामलों में एसिडिटी की वजह खराब लाइफस्टाइल होता है. अगर हम देर से सोएंगे, वक्त बे वक्त खाना खाएंगे, ज्यादा खाएंगे तो हम एसिडिटी की समस्या का शिकार हो सकते हैं.

जानकारी अनुसार, एसिडिटी गैस्ट्रिक ग्रंथियों (gastric glands) में एसिड के अत्यधिक स्राव (excessive secretion) से होती है. जो ज्यादातर अत्यधिक मसालेदार खाना खाने या दो बार के खाने के बीच लंबे अंतराल के कारण होती है.

इन 3 फूड्स की मदद से हम कम कर सकते हैं एसिडिटी की समस्या

केला
अपने दिन की शुरुआत एक केले से करें, जो बदले में “आपकी एसिडिटी की आधी चिंताओं को दूर कर देगा”

यह भी पढ़ें- स्लिप डिस्क का दर्द अब नहीं सताएगा, जानें इलाज की नई तकनीक

तुलसी के बीज
इसे बनाएं आदत! कम से कम एक गिलास पानी में 2 चम्मच तुलसी के बीज (basil seeds) भिगोकर पियें. तुलसी के बीज ठंडी प्रकृति के होते हैं और एसिडिटी की समस्या को कम करने में मदद करते हैं. जूही कपूर का कहना है कि पीरियड्स के दौरान और सर्दी/खांसी होने पर इसके सेवन से बचें.

नारियल पानी
न्यूट्रिशनिस्ट जूही कपूर का कहना है कि सुबह 11 बजे एक गिलास नारियल पानी पीने से एसिडिटी की समस्या कम हो जाती है.

यह भी पढ़ें- कोरोना के गंभीर खतरे से बचाने में कारगर हो सकती है Diabetes की ये दवा – रिसर्च

लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव जो एसिडिटी को कम करने में मदद कर सकते हैं.

– छोटी-छोटी मील और नियमबद्ध भोजन
– बहुत अधिक प्रोटीन के सेवन से बचें
– हर हफ्ते केवल 2 से 3 बार ही मांसाहारी भोजन करें, इससे अधिक नहीं
– अपने दैनिक भोजन में अनाज न छोड़ें
– प्रत्येक मील के बाद कम से कम 100 कदम चलें
– वज्रासन में बैठने का प्रयास करें
– सकारात्मक सोचें, खुशी के माहौल में रहें

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link