Hathras Case: BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय बोले- ‘CM योगी के प्रदेश में कभी भी पलट जाती है गाड़ी’ | bhopal – News in Hindi

123

हाथरस मामले में कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा बयान.

बड़ा बयान देते हुए  कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने कहा कि थोड़ा इंतजार करना चाहिए. दोषी सलाखों के पीछे होंगे.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 30, 2020, 7:44 PM IST

भोपाल. उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) में युवती के साथ हुए कथित गैंगरेप (Gangrape) और उसकी मौत की घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है. न्याय की मांग यूपी से लेकर दिल्ली तक की जा रही है. राजनीतिक बयानबाजी से लेकर सोशल मीडिया में भी लोग अपने तीखी प्रतिक्रया दे रहे हैं. घटना के बाद से विपक्षी दल योगी सरकार पर हमलावर हो गया है. इन सबके बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने हाथरस मामले को लेकर एक बड़ा बयान दिया है जिसकी हर तरफ जमकर चर्चा हो रही है.

मीडिया को दिए बयान में कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. केस को फास्ट-ट्रैक कोर्ट भेज दिया गया है. उन्होंन कहा कि थोड़ा सब्र करना चाहिए. सभी आरोपी जेल की सलाशों के पीछे होंगे. विजयवर्गीय ने कहा, ‘योगी जी वहां के मुख्यमंत्री हैं, मैं जानता हूं उनके प्रदेश में गाड़ी कभी भी पलट जाती है’.

ऐसे भी बयानइधर, हाथरस मामले को लेकर वाराणसी में विश्व हिंदू सेना प्रमुख का विवादित बयान सामने आया है. विश्व हिंदू सेना प्रमुख अरुण पाठक ने घटना में शामिल दोषियों के गुप्तांग को काटने के लिए 25 लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया है. बता दें विश्व हिंदू सेना के प्रमुख अरुण पाठक अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. पिछले दिनों अरुण पाठक और उसके कार्यकर्ताओं ने नेपाल के युवक का सिर मुंडवाया था. जिसके बाद से वाराणसी पुलिस ने अरुण पाठक समेत उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कार्रवाई की थी, जिसमें विश्व हिंदू सेना के 4 कार्यकर्ता गिरफ्तार हुए थे लेकिन प्रमुख अरुण पाठक अब तक पुलिस के गिरफ्त में नहीं आ पाया.

यहां देखें ANI का ट्वीट

पवन जल्लाद ने कही ये बात

जानकारी के मुताबिक, पवन जल्लाद कभी भी हाथरस  जा सकता है. वो पीड़िता के परिवार से मिलना चाहता है. पवन का कहना है कि पीड़िता की मौत की खबर सुनकर वो बैचेन है. न्यूज18 हिंदी से बात करते हुए पवन ने दिल का हाल बयां किया और कहा कि मैंने निर्भया की मां को देखा है. उस दर्द को भी देखा है जो फांसी से पहले तक उनके चेहरे पर झलकता था. मैं समझ सकता हूं उस दर्द और बेबसी को जिसकी बेटी के साथ इस तरह की घटना हो और वो मजबूर होकर कुछ कर भी न सकें. मैं उनसे मिलकर उनके उसी दर्द को बांटना चाहता हूं. निर्भया के दोषियों को फांसी देने वाले पवन जल्लाद ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि हाथरस पीड़िता की मौत के बाद से जो मेरा हाल है वो मैं किसी को बता नहीं पा रहा हूं. लेकिन सच बात तो यह है कि मैं खुद भी पीड़िता की मां और उसके परिवार वालों की तरह से मजबूर हूं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here