Gold Silver Rate Today 10 June 2021-Will Gold And Silver Be Cheap Or Expensive, Know The Opinion Of Experts-सोना-चांदी सस्ता होगा या फिर महंगा, जानिए जानकारों की राय

131

highlights

  • अमेरिका में आने वाले महंगाई के आंकड़ों को देखते हुए बुधवार को डॉलर इंडेक्स में रही स्थिरता
  • 10 साल के अमेरिकी बॉन्ड की यील्ड में भी स्थिरता के साथ कारोबार दर्ज किया गया

मुंबई :

Gold Silver Rate Today 10 June 2021: अमेरिका में आने वाले महंगाई के आंकड़ों को देखते हुए बुधवार को विदेशी बाजार में सोने-चांदी में उतार-चढ़ाव के साथ कारोबार होते हुए देखा गया. हालांकि बीते सत्र में विदेशी बाजार में सोना-चांदी मजबूती के साथ बंद हुए थे. वहीं घरेलू वायदा बाजार यानी MCX की बात करें तो बीते सत्र में सोना-चांदी मिलेजुले रूप से बंद हुए थे. अमेरिका में आने वाले महंगाई के आंकड़ों को देखते हुए बुधवार को डॉलर इंडेक्स और 10 साल के अमेरिकी बॉन्ड की यील्ड में स्थिरता के साथ कारोबार दर्ज किया गया. आज के कारोबार में सोने-चांदी में ट्रेडिंग के लिए क्या रणनीति बनाएं, इसको लेकर देश के दिग्गज जानकारों का नजरिया जानने की कोशिश करते हैं. 

यह भी पढ़ें: जानिए किस शहर में 106 रुपये के ऊपर बिक रहा है पेट्रोल, देखें आज की रेट लिस्ट

सोने-चांदी पर जानकारों की राय

इंडिया इंफोलाइन सिक्योरिटीज (IIFL Securities) के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता (Anuj Gupta) के मुताबिक इंट्राडे में MCX पर सोना अगस्त वायदा में 48,800रुपये के लक्ष्य के लिए 49,300 रुपये के भाव पर बिकवाली से फायदा है. सोने के इस सौदे के लिए 49,500 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए. वहीं दूसरी ओर चांदी जुलाई वायदा में 72,000 रुपये के भाव पर बिकवाली करके 70,900 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 72,600 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

केडिया एडवाइजरी (Kedia Advisory) के मैनेजिंग डायरेक्टर अजय केडिया (Ajay Kedia) के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना अगस्त वायदा में 49,050-48,820 रुपये के लक्ष्य के लिए 49,300 रुपये के भाव पर बिकवाली की जा सकती है. सोने के इस सौदे के लिए 49,600 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं. वहीं दूसरी ओर चांदी जुलाई वायदा में 72,000 रुपये के भाव पर बिकवाली करके 71,200-70,600 रुपये का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 73,600 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

दिल्ली, मुंबई और चेन्नई समेत देश के बड़े शहरों के सोने-चांदी के आज के रेट जानने के लिए यहां क्लिक करें

मोतीलाल ओसवाल (Motilal Oswal) के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अमित सजेजा (Amit Sajeja) के मुताबिक इंट्राडे में MCX पर सोना अगस्त वायदा में 49,200 रुपये के लक्ष्य के लिए 48,900 रुपये के भाव पर खरीदारी कर सकते हैं. सोने के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 48,700 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं. वहीं दूसरी ओर चांदी जुलाई वायदा में 71,200 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 72,000 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 70,700 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है.

कमोडिटी मार्केट एक्सपर्ट वीरेश हीरेमथ के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना अगस्त वायदा में 49,000 रुपये के लक्ष्य के लिए 49,200 रुपये के भाव पर बिकवाली की जा सकती है. सोने के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 49,300 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है. वहीं दूसरी ओर चांदी जुलाई वायदा में 71,900 रुपये के भाव पर बिकवाली करके 71,500 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 72,200 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं.

पृथ्वी फिनमार्ट प्राइवेट लिमिटेड (Prithvi Finmart Pvt Ltd) के डायरेक्टर (कमोडिटी एंड करेंसी) मनोज कुमार जैन (Manoj Kumar Jain) के मुताबिक आज के सत्र में 
सोने-चांदी में उतार-चढ़ाव रह सकता है. उनका कहना है कि MCX पर सोने में सपोर्ट लेवल 48,950-48,700 रुपये और रेसिस्टेंस 49,300-49,550 रुपये है. वहीं चांदी में सपोर्ट लेवल 71,200-70,700 रुपये और रेसिस्टेंस 72,200-72,800 रुपये है. मनोज का कहना है कि MCX पर सोना अगस्त वायदा में 49,400 रुपये के लक्ष्य के लिए 48,950 रुपये के आस-पास खरीदारी की जा सकती है. सोने के इस सौदे के लिए 48,700 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है. वहीं चांदी जुलाई वायदा में 71,300 रुपये के आस-पास खरीदारी करके 72,500 रुपये का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. चांदी के इस सौदे के लिए 70,700 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.
 

यह भी पढ़ें: किसानों को तोहफा: तुअर, उड़द और तिल की MSP बढ़ी, कैबिनेट से मिली मंजूरी

(Disclaimer: निवेशक निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार की सलाह जरूर लें. न्यूजनेशनटीवीडॉटकॉम की खबर को आधार मानकर निवेश करने पर हुए लाभ-हानि का newsnationtv.com से कोई लेना-देना नहीं होगा. निवेशक स्वयं के विवेक के आधार पर निवेश के फैसले लें)



संबंधित लेख

Source link