कैम्प लगाकर खाद्य कारोबार का कराया जाये रजिस्ट्रेशन,दिव्यांग महिलाओं को दी जाये वरीयता : जिलाधिकारी

26

– फ़ूड ज़ोन के लिए नगर निगम द्वारा कराया जाए स्थानों का चिन्हांकन

– आम जनमानस को सुरक्षित खाद्य एवं पेयपदार्थ की उपलब्धता सुनिश्चित कराये जाने के लिए किये जाये औचक निरीक्षण

– 5 से 12 दिसम्बर तक टूरिस्ट कार्निवाल का आयोजन

– टूरिस्ट कार्निवाल में लगाए जाएंगे खाद्य से सम्बंधित स्टाल

भास्कर न्यूज़
लखनऊ।कलेक्ट्रेट स्थित डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में खाद्य सुरक्षा एवं औषदि प्रशासन विभाग की जिला स्तरीय समिति की बैठक सोमवार को जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। आयोजित बैठक का उद्देश्य आगामी नवरात्रि, दशहरा वं दीपावली पर्व पर आम जनमानस को सुरक्षित खाद्य एवं पेय पदार्थ उपलब्ध कराना व मिलावटी खाद्य पदार्थ की बिक्री पर प्रभावी

 

नियंत्रण एवं ईट राईट चैलैंज से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओं पर प्रभावी क्रियान्वयन करना है। बैठक में ज़िलाधिकारी ने स्ट्रीट फूड हब कार्यक्रम के अन्तर्गत रिवर फ्रंट,रूमी दरवाजे से इमामबाड़ा तक का क्षेत्र व चारबाग के आसपास के क्षेत्र में नगर निगम एवं लखनऊ विकास प्राधिकरण के सहयोग से स्ट्रीट फूड विकसित किया जाये तथा स्ट्रीट फूड जोन में लगने वाले फूड कार्ट के लिए अनुदान पर गाड़ियां भी उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाए।तथा इनको स्वच्छता एवं

 

हाईजीन के संबंध में फास्ट्रैक टेनिंग करायी जाए। इन क्षेत्रों में दुकानो के चयन एवं आवंटन के लिए ऑनलाइन निविदा मंगाई जाए तथा आवंटन में दिव्यांग एवं महिलाओं को वरीयता दी जाए। बैठक में अमरपाल सिंह अपर जिलाधिकारी (प्रशासन),जिला पूर्ति अधिकारी सुनील सिंह, रतन कुमार एडिशनल डीपीआरओ, वरिष्ठ डाइटीशियन केजीएमयू डॉ0 शालिनी श्रीवास्वत, आईटी कालेज से नीलम सिंह, डाॅ0 राम सागर गुप्ता जिला कृषि अधिकारी, माधुरी सिंह औषधि निरीक्षक, डॉ0 एसके रावत एनएसए,सीमान्त श्रीवास्तव आईडीपीओ , संतोष कुमार एएसओ, उम्मीद एनजीओ से बलबीर सिंह मान, फूड एनालिस्ट राजेश कुमार, व्यापार मंडल के प्रतिनिधि अमर नाथ मिश्रा एवं अरविन्द्र सिंह कोहली सहित सभी विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहें।

 

जिलाधिकारी ने स्वच्छ एवं ताजे फल एवं सब्ज़ी बाज़ार कार्यक्रम के अन्तर्गत किसान बाजार गोमती नगर में आम जनमानस को स्वच्छ वातावरण में ताजे फल व सब्जियों के विक्रय के लिए मंडी सचिव से समन्वय स्थापित कर किसान बाजार के अन्दर फ्रूट एवं वेजीटेबल मार्केट के विकसित करने के लिए कार्रवाई की जाए, साथ ही साथ अन्य स्थलों का चयन भी लखनऊ विकास

प्राधिकरण एवं नगर निगम के सहयोग से किया जाए।उन्होंने कहा कि दिसम्बर माह में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा प्रस्तावित ईट राईट चैलेन्ज के तहत फूड कार्निवाल का आयोजन (05 दिसम्बर से 11 दिसम्बर तक) चलाया जाए। इसके लिए क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी एवं महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र से समन्वय स्थापित कर एक जिला एक उत्पाद से संबंधित खाद्य वस्तुओं के स्टाल

 

भी लगाए जाए।डीएम ने एफएसएसएआई द्वारा ईट राईट चैलेन्ज के अन्तर्गत चलने वाले कार्यक्रम भोग के अन्तर्गत तीन धार्मिक स्थलों- हनुमान सेतु मंदिर, मनकामेश्वर मंदिर तथा गुरूद्वारा आशियाना के व्यवस्थाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए इन मंदिरों को भोग कार्यक्रम के अन्तर्गत सम्मलित किया जाए।उन्होंने एफएसएसएआई द्वारा ईट राईट चैलेन्ज के अन्तर्गत चलने वाले कार्यक्रम ईट राइट स्कूल एंड सेफ एंड न्यूट्रिशस फ़ूड@स्कूल के अन्तर्गत विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों, अध्यापकों व अभिभावकों को संतुलित आहार, स्वच्छ व

 

सुरक्षित आहार तथा अच्छी खान-पान आदतों के विषय में जागरूक करने के लिए कार्यक्रम आयोजित करने तथा इसके संबंध में पोस्टर एवं क्विज प्रतियोगिताओं के आयोजन संबंधित विद्यालयों में किये जाने के निर्देश दिये।डीएम ने आगामी त्योहारों के दृष्टिगत विभाग द्वारा चलाये जा रहे प्रवर्तन अभियान को और प्रभावी करने तथा इसके प्रति आम जनमानस में जागरूकता कार्यक्रम चलाने के लिए भी विभाग के

अधिकारियों को निर्देशित किया।खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा खाद्य लाईसेंस एवं पंजीकरण बढ़ाने के लिए सभी तहसीलों एवं नगर निगम में कैम्प का आयोजन किया जाए। इसके अतिरिक्त विभिन्न तहसीलों एवं खाद्य सुरक्षा जोनो में भी कैम्प आयोजित किया जाए तथा सभी खाद्य कारोबारकर्ताओं को लाईसेंस से आच्छादित करने के लिए खाद्य एवं रसद विभाग, आबकारी विभाग, खाद्य विपणन विभाग, मंडी समिति का संयुक्त अभियान चलाया जाए तथा इन विभागों द्वारा कैम्पों का भी आयोजन किया जाए।

 

 

शिक्षक दिवस के अवसर पर आयोजित इन्द्रिरा गाँधी प्रतिष्ठान में आयोजित रक्तदान शिविर तथा सितम्बर माह में आयोजित 45th जीएसटी कॉउन्सिल में सराहनीय योगदान करने वाले अधिकारियों को जिलाधिकारी ने प्रशस्ति पत्र प्रदान किया । जिलाधिकारी ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि नवरात्रि, दशहरा व दीपावली पर्व के दृष्टिगत संबंधित मैजिस्ट्रेट पुलिस अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर प्रभावी प्रवर्तन कार्रवाई कराना सुनिश्चित करें। खाद्य पदार्थो की गुणवत्ता के साथ समझौता किसी भी दशा में नही किया जा सकता। मिलावटखोर के विरूद्ध वाद दायर कर उनके लाईसेंस/पंजीकरण को निरस्त किया जाए। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा खाद्य कारोबारकर्ताओं को लाईसेंस/रजिस्ट्रेशन के दायरे में लाने के लिए संचालित कैम्पों को वाणिज्य कर

 

विभाग, आबकारी विभाग, खाद्य एवं रसद विभाग, नगर निगम तथा व्यापार मंडल एवं विभिन्न एनजीओ के साथ समन्वय स्थापित कर विभिन्न स्थलों पर संचालित कर शत-प्रतिशत खाद्य कारोबारकर्ताओं को खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के अन्तर्गत लाईसेंस/रजिस्ट्रेशन से एवं ड्रग एवं कास्मेटिक एक्ट 1940 के अन्तर्गत औषधि (विक्रय, निर्माण इकाई व रक्तकोष) लाईसेंस से आच्छादित किये जाये। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया कि होटल, रेस्टोरेंट, बेकरी तथा अन्य खाद्य प्रतिष्ठान कोविड-19 से बचाव से संबंधित सुरक्षात्मक उपायों का

अनुपालन करें एवं इससे तथा कोविड-19 वेक्सीन से संबंधित फ्लेक्सी एवं स्टैडी का प्रदर्शन अपने प्रतिष्ठान पर अवश्यक करें तथा समस्त होटल/रेस्टोरेंट की हाईजिन एवं रेटिंग कराया जाना तत्काल सुनिश्चित किया जाए।बैठक के प्रारम्भ में अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन ने बताया गया कि विगत वित्तीय वर्ष 2021-22 में माह सितम्बर तक विभाग द्वारा 329 स्थानों पर

 

छापेमारी की कार्रवाई करते हुए 398 नमूने संग्रहित किये गये हैं। तथा लगभग 4 लाख रूपये की खाद्य सामग्री सीज़ की गयी। औषधि अनुभाग द्वारा 126 नमूने संग्रहित कर 122 लाईसेंस निलम्बित करते हुए तथा 145 लाईसेंस निरस्त करते हुए लगभग 3 लाख 39 हजार रूपये की औषधियों को सीज़ किया गया तथा अपरजिलाधिकारी कोर्ट से 172 वाद निस्तारित करते हुए लगभग 50 लाख रूपये का अर्थदण्ड अधिरोपित किया गया।