DPR to be built to connect Jewar Airport to metro express line nodbk

43

सीईओ ने बताया कि इस संबंध में शासन को पत्र लिखा गया है. (सांकेतिक फोटो)

मेट्रो एक्सप्रेस लाइन (Metro Express Line) से जोड़ने के लिए डीएमआरसी नये सिरे से फिजिबिलटी कम डीपीआर तैयार करेगी. यमुना एक्सप्रेस- वे प्राधिकरण के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह ने बताया कि जेवर एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी के साथ हुए स्टेट सपोर्ट एग्रीमेंट में हवाई अडडे तक कनेक्टिविटी मुहैया कराने की जिम्मेदारी है.

नोएडा. जेवर में प्रस्तावित नोएडा अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Noida International Airport) और एवं दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Indira Gandhi International Airport) को मेट्रो एक्सप्रेस लाइन (Metro Express Line) से जोड़ने के लिए डीएमआरसी नये सिरे से फिजिबिलटी कम डीपीआर तैयार करेगी. यमुना एक्सप्रेस- वे प्राधिकरण के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह ने बताया कि जेवर एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी के साथ हुए स्टेट सपोर्ट एग्रीमेंट में हवाई अडडे तक कनेक्टिविटी मुहैया कराने की जिम्मेदारी है. इसके लिए जेवर हवाई अड्डे से ग्रेटर नोएडा तक एक्सप्रेस मेट्रो चलायी जाएगी, लेकिन उसके आगे भी इसे दिल्ली की एक्सप्रेस मेट्रो लाइन से जोड़ने पर सहमति बनी.

दोनों एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन से जुड़ जाएंगे
उन्होंने बताया कि दिल्ली में शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन से एयरपोर्ट की एक्सप्रेस लाइन गुजरती है. यहां से ग्रेटर नोएडा तक मेट्रो लाइन को एक्सप्रेस लाइन में बदला जाएगा. इसके बाद दोनों एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन से जुड़ जाएंगे. इस प्रोजेक्ट को मूर्तरूप देने के लिए डीएमआरसी को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी. डीएमआरसी दो माह के अंदर फिजिबिलटी कम डीपीआर तैयार कर सौंपेगी. इसके लिए जेवर एयरपोर्ट व दिल्ली एयरपोर्ट को एक्सप्रेस लाइन से जोड़ने के लिए मंगलवार को औद्योगिक विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव अरविंद कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण, डीएमआरसी, एलएमआरसी व यूपीएमआरसी के अधिकारियों ने भाग लिया.

एक्सप्रेस लाइन बनने से स्टेशनों की संख्या पांच से छह ही होगीसीईओ ने बताया कि इस संबंध में शासन को पत्र लिखा गया है. शासन से अनुमोदन के बाद डीएमआरसी काम शुरू करेगा. बैठक में तय हुआ कि जेवर एयरपोर्ट से ग्रेटर नोएडा तक एक्सप्रेस मेट्रो चलायी जाएगी. इस लाइन की पहले डीपीआर बन चुकी है. उसमें 25 स्टेशन प्रस्तावित थे लेकिन एक्सप्रेस लाइन बनने से स्टेशनों की संख्या पांच से छह ही होगी.






Source link