राजकीय बीज भंडार प्रभारी के सामने बौना हुआ जिला कृषि अधिकारी का आदेश

34

भास्कर न्यूज
गोसाईंगंज, लखनऊ।गोसाईगंज स्थित राजकीय बीज भंडार प्रभारी कृष्ण कुमार सिंह के सामने ज़िला कृषि अधिकारी का आदेश बौना साबित हुआ।इसी वजह से केंद्र प्रभारी के हौसले बुलंद हैं।
गोसाईगंज क्षेत्र के किसानों शारदा प्रसाद पटेल व सत्य नरायन रज्जाकपुर (शिवलर) ,पवन कुमार बिकौली (मलौली) ,अखिलेश कुमार बसरहिया और राम गोपाल सेमानापुर के अनुसार इन लोगो ने बोने के लिए राजकीय कृषि बीज भंडार से पंत 24 प्रजाति का बीज खरीदा था। किसानों ने उसे बोया।बीज उगा लेकिन धान के 25 प्रतिशत पौधों में ही बालियां निकल रही है।
शेष पौधों में बालियों के निकलने में विलम्ब हो रहा है।इससे किसानों को फसल काटने में बड़ी समस्या का सामना करना पड़ेगा।इस प्रकार उनके लिए धान की फसल की कोई सार्थकता नहीं रह जाती है। किसानों की शिकायत के अनुसार आस-पास के अन्य खेतों में धान की बालियां एक साथ आई है।उन खेतों में फसल काटते समय किसान को किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। परेशान किसानों ने अपनी पीड़ा लिखित रूप से जिला कृषि अधिकारी ओ पी मिश्र तक पहुंचाई और होने वाली हानि की भरपाई करवाने की मांग की है।
शिकायत में लिखा गया है कि राजकीय कृषि बीज भण्डार के प्रभारी द्वारा शिकायतकर्ताओं को बीज खरीद की कोई रसीद नहीं दी गई न ही विभाग द्वारा मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी से अवगत कराया गया। इतना ही नहीं शिकायत कर्ताओं के द्वारा यह भी कहा गया है कि बीज वितरण के समय कम्प्यूटर आपरेटर उपस्थित नहीं रहता है तथा मिनी किट वितरण किसी क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि के सामने नहीं किया जाता है। इस प्रकार बीज भण्डार प्रभारी द्वारा किसानों के साथ धोखाधड़ी किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। इसमें किसानों की ओर से कार्यवाही की मांग की गई है।
किसानों की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए जिला कृषि अधिकारी ने बीज भण्डार के प्रभारी को इस मामले में तीन दिन में स्पष्टीकरण देने को कहा गया था साथ ही सहायक विकास अधिकारी (कृषि) को मामले की जांच करने को कहा लेकिन इस मामले में कोई भी प्रगति नहीं हुई। पूरे मामले को सुनने के बाद हर व्यक्ति यही कहता है कि बीज भण्डार प्रभारी के सामने जिला कृषि अधिकारी का आदेश कुछ भी नहीं है।