86 सिविल एवं 33 विद्युत यांत्रिक इंजीनियरर्स को डिप्टी सीएम ने वितरित किये नियुक्ति पत्र

127

उपमुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रकाशित पत्रिका ‘‘लोक निर्माण विभाग एक परिचय’’ का भी किया विमोचन

अजय सिंह चौहान/भास्कर न्यूज़

लखनऊ।डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग स्थित विश्वेश्वरैया सभागार में आयोजित कार्यक्रम में नवनियुक्त सहायक अभियन्ताओं को नियुक्ति पत्र वितरित किये।उन्होंने लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रकाशित पत्रिका ‘‘लोक निर्माण विभाग एक परिचय’’ का विमोचन भी किया।

 

कार्यक्रम में 86 सिविल इंजीनियर्स और 33 विद्युत/यांत्रिक के अभियन्ताओं को नियुक्ति पत्र वितरित किये गये, जिसमें काफी संख्या में सहायक अभियन्ता के रूप में चयनित महिलाएं भी रहीं, जिनका उन्होंने उत्साहवर्धन भी किया। वितरण के समय दुर्घटना से पैरों में लगी चोट के कारण चलने में अक्षम अभियन्ता संजय कुमार यादव को मंच से उतर कर उपमुख्यमंत्री ने नियुक्ति पत्र दिया और जल्द ही स्वस्थ होने की कामना भी की।

उपमुख्यमंत्री ने अपने ओजस्वी एवं प्रेरक उद्बोधन में सभागार में मौजूद सभी इंजीनियर्स एवं उनके परिजनों को हार्दिक बधाई दी तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना भी की।उन्होंने अपने उद्बोधन में देश व प्रदेश वासियों को नवरात्रि की ढ़ेर सारी मंगलकामनाएं भी दीं। श्री मौर्य ने कहा कि इंजीनियर्स के माता-पिता के लिये बहुत ही प्रसन्नता एवं गर्व की बात है,कि वे अपने पुत्र/

पुत्रियों को अपनी आंखों के सामने नियुक्ति पत्र ग्रहण करते हुए देखने का उन्हें सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। उन्होंने नवनियुक्त इंजीनियर्स से कहा कि वह विभागीय अभियन्ताओं के अनुभव से प्रेरणा लेकर देश व समाज के निर्माण में अपना अहम योगदान दें। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सड़कें देश की प्रगति का आधार होती हैं।

 

अभियन्तागण, निर्माण संरचनाओं में अभिनव खोज कर देश व प्रदेश के लिये नयी मिसाल कायम करें। कहा कि भारत की तकनीक को दुनिया भर में ले जाने का प्रयास करें। कम लागत में बेहतरीन परिणाम देने का उपाय करें। उन्होने कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वाले अभियन्ताओं को सम्मानित किया जायेगा।श्री मौर्य ने कहा कि भारत रत्न विश्वेश्वरैया देश के अभियन्तओं के आदर्श हैं, और प्रेरणा स्रोत हैं, जिनके ज्ञान और प्रतिभा से आज भी अभियन्ता जगत में सीख ली जा रही है।

 

उन्होंने कहा कि नये अभियन्ताओं को अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करने का एक सुनहरा अवसर मिला है, एक अच्छे संकल्प को लेकर अपनी सेवाओं की शुरूआत करें और कुछ नया करके दिखाएं। इस अवसर पर उन्होने रामधारी सिंह दिनकर की पंक्तियों- ‘‘कोई चलता पदचिन्हों पर, कोई पद चिन्ह बनाता है, बस वही सूरमा वीर पुरूष दुनिया में पूजा जाता है।’’ का उद्धरण देते हुए कहा कि इंजीनियर्स ऐसे पदचिन्ह बनायें कि उत्तर प्रदेश लोक निर्माण की ख्याति देश में ही नहीं दुनिया में फैले।उपमुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग में संचालित की जा रही

 

डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम गौरवपथ, जय हिन्द वीर पथ, मेजर ध्यानचन्द विजय पथ जैसी अभिनव योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि जिस प्रकार से प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत को पूरे देश ने अपनाया है, लोक निर्माण विभाग के अभियन्ता कुछ ऐसा नया कर दिखाएं, जो देश और दुनिया में सकारात्मक चर्चा का विषय बने। श्री मौर्य ने कहा कि सभी गांवों को सम्पर्क मार्गों से जोड़ने का कार्य तेजी से चल रहा है और हमारी कोशिश है जहां 50 परिवारों की भी आबादी हो, वह भी सम्पर्क मार्गों से जुड़े। लोक निर्माण विभाग के सचिव समीर वर्मा ने कहा कि अभियन्ता अपने क्षेत्र में सृजनात्मक कार्य करें और फील्ड में प्रैक्टिकल मोड में काम करते हुए चुनौतियों को स्वीकार करें और सफलतापूर्वक कार्य करते हुए राष्ट्र व समाज को नयी उचाईंयों पर ले जाएं। लोक निर्माण विभाग के विभागाध्यक्ष राकेश सक्सेना ने सभी अतिथियों व अभ्यागतों के प्रति आभार प्रकट किया। मुख्य अभियन्ता जितेन्द्र कुमार बांगा ने कार्यक्रम का सफल संचालन किया।

इस अवसर पर प्रमुख अभियन्ता मनोज गुप्ता, प्रमुख अभियन्ता अरविन्द कुमार श्रीवास्तव, राजकीय निर्माण निगम के प्रबन्ध निदेशक एसपी सिंघल, सेतु निगम के प्रबन्ध निदेशक योगेश पवार, मुख्य अभियन्ता (मध्य क्षेत्र) राजेन्द्र कुमार हरदहा, विशेष कार्याधिकारी प्रदीप कुमार सहित लोक निर्माण विभाग के अन्य अभियन्ता व अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।