Delhi Capitals के कप्तान को लेकर तस्वीर हुई थोड़ी साफ, Shreyas Iyer के हाथ लग सकती है निराशा

22

<p style="text-align: justify;"><strong>IPL 2021:</strong> इंडियन प्रीमियर लीग सीजन 14 के दूसरे हिस्से का आगाज 19 सितंबर से होने जा रहा है. दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान का सवाल हालांकि अब जाकर साफ होता दिखाई दे रहा है. रिपोर्ट्स की मानें तो श्रेयश अय्यर की वापसी के बावजूद टीम की कमान ऋषभ पंत के हाथों में रह सकती है.</p>
<p style="text-align: justify;">दिल्ली कैपिटल्स की ओर से कप्तान को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक एलान नहीं किया गया है. लेकिन टीम मैनेजमेंट ने ऋषभ पंत को ही टीम का कप्तान बनाए रखने के संकेत दिए हैं. दिल्ली कैपिटल्स की टीम के एक अधिकारी ने दावा किया है कि श्रेयश अय्यर को दोबारा टीम की कमान संभालने के लिए थोड़ा वक्त और चाहिए.</p>
<p style="text-align: justify;">इससे पहले ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि श्रेयश अय्यर की टीम में वापसी के साथ ही ऋषभ पंत को कप्तानी गंवानी पड़ सकती है. लेकिन अब ऋषभ पंत आईपीएल 14 के बाकी बचे मैचों के दौरान दिल्ली कैपिटल्स की कमान संभालते हुए नज़र आएंगे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>श्रेयश अय्यर की हुई है वापसी</strong></p>
<p style="text-align: justify;">बता दें कि श्रेयश अय्यर इस साल मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ लिमिटिड ओवर्स सीरीज खेलते हुए चोटिल हो गए थे. इस चोट की वजह से अय्यर आईपीएल 14 के पहले हिस्से से बाहर हो गए थे. अय्यर को कंधे की सर्जरी की गुजरना पड़ा है और उन्हें ठीक होने में करीब चार महीने का वक्त लगा है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">अय्यर की अनुपस्थिति में टीम मैनेजमेंट ने शानदार फॉर्म में चल रहे ऋषभ पंत को कप्तान बनाने का फैसला किया. पंत ने टीम मैनेजमेंट के भरोसे को अब तक सही साबित किया है. पंत की अगुवाई में दिल्ली कैपिटल्स की टीम अब तक खेले गए 8 में से 6 मुकाबले जीतकर 12 प्वाइंट्स के साथ पहले नंबर पर बनी हुई है. दिल्ली कैपिटल्स का इस साल प्लेऑफ में पहुंचना लगभग तय है.&nbsp;</p>
<p class="article-title " style="text-align: justify;"><a href="https://www.abplive.com/sports/tokyo-2020-paralympics-games-praveen-kumar-won-silver-medal-in-high-jump-t64-event-1962561"><strong>Tokyo 2020 Paralympics Games: हाई जंप इवेंट में प्रवीण कुमार ने जीता सिल्वर, भारत के हिस्से आया एक और मेडल</strong></a></p>

Source link