congress leader met fadnavis: Maharashtra Politics: फडणवीस से मिले पटोले और थोरात, बोले-वे हमारे शब्दों का मान रखेंगे.. राज्यसभा उपचुनाव में फंसा पेंच – maharashtra congress president nana patole and revenue minister bala saheb thorat meets former cm devendra fadnavis in connection with rajyasabha bye election

38

हाइलाइट्स

  • देवेंद्र फडणवीस से मिले नाना पटोले और बाला साहेब थोरात
  • राज्य सभा उपचुनाव के सिलसिले में हुई मुलाकात
  • कांग्रेस इस चुनाव को निर्विरोध जीतना चाहती है
  • कांग्रेस को उम्मीद है कि फडणवीस उनके शब्दों का मान रखेंगे

मुंबई
राज्यसभा उपचुनाव को लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस के मुखिया नाना पटोले और राजस्व मंत्री बाला साहेब थोराट ने पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस से उनके आवास पर मुलाकात की। कांग्रेस के नेता इस चुनाव को निर्विरोध जीतना चाहते हैं। उनकी मांग है कि बीजेपी इस चुनाव में अपनी उम्मीदवारी वापस लेले। इसी बात के लिए गुरुवार को दोनों नेता फडणवीस से मिलने पहुंचे थे। हालांकि फडणवीस ने पहले ही यह स्पष्ट कर दिया है कि इस बात का फैसला कोर कमेटी करेगी।

मीडिया से मुखातिब होने दौरान कांग्रेस के दोनों नेताओं ने कहा कि हमने अपनी बात रखने के लिए फडणवीस से मुलाकात की थी। हमको पूरी उम्मीद है कि हमारे शब्दों का मान रखेंगे। अब सबकी निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि बीजेपी अपने उम्मीदवार संजय उपाध्याय का नामांकन वापस लेती है या नहीं। दरअसल महाराष्ट्र में कांग्रेस नेता राजीव सातव की मौत के बाद खाली हुई सीट पर चुनाव के कांग्रेस,बीजेपी समेत चार उम्मीदवारों ने बुधवार को नामांकन दाखिल किया है।

कांग्रेस और बीजेपी के बीच सीधी टक्कर
बुधवार को नामांकन भरने का अंतिम दिन था। राज्यसभा के उपचुनाव के लिए महाराष्ट्र विधानसभा के 287 सदस्यों को मतदान का अधिकार है। उपचुनाव के लिए महाविकास आघाडी की ओर से 179 विधायकों के समर्थन से स्पष्ट बहुमत होने का दावा किया गया है, जबकि बीजेपी ने भी निर्दलियों को मिलाकर 119 विधायकों के समर्थन का दावा किया है। उपचुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवार रजनी पाटील और बीजेपी के उपाध्याय के बीच सीधी टक्कर है, हालांकि महाविकास आघाडी नेताओं को उम्मीद है कि बीजेपी नामांकन वापस ले लेगी।

मैदान में चार उम्मीदवार
राज्यसभा की एक सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए बीजेपी के संजय उपाध्याय और कांग्रेस की रजनी पाटील सहित नागपुर के नत्थू लोखंडे और प्रभाकर जानवेकर ने अपना नामांकन भरा है। कांग्रेस को भरोसा है कि बहुमत का आंकड़ा उनकी ओर है, इसलिए बीजेपी सहित सभी उम्मीदवार अपना नाम वापस ले लेंगे। गुरुवार को उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों की छानबीन होगी।

Source link