Chanakya Niti For Business: व्यापार को बढ़ाने के लिए चाणक्य ने बताएं हैं ये उपाय, आप भी अपनाकर बनें सफल बिजनेसमैन

19

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य ने बताया है कि किसी भी बिजनेस के लिए सकारात्मक सोच का होना बेहद जरूरी है. बिजनेस से जुड़ा कोई भी निर्णय लेने से पहले सोच स्थिर और सकारात्मक होना चाहिए.

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य (Chanakya) (Photo Credit: newsnation)

highlights

  • किसी भी बिजनेस के लिए सकारात्मक सोच का होना बेहद जरूरी है: आचार्य चाणक्य 
  • जोखिम उठाने से कभी नहीं घबराएं, पूरी जानकारी और रणनीति के साथ नए कार्य शुरू करें

नई दिल्ली:

Chanakya Niti: अगर आप बिजनेस (Chanakya Niti Business) शुरू करने की योजना बना रहे हैं या फिर आपके बिजनेस में नुकसान हो रहा है तो बिजनेस को सफल बनाने को लेकर आचार्य चाणक्य ने कई महत्वपूर्ण सूत्र बताए थे. आचार्य चाणक्य के द्वारा बताई गई नीतियां पहले जितनी उपयोगी हुआ करती थीं, उतनी ही आज के दौर में भी उपयोगी हैं. चाणक्य (Acharya Chanakya) ने बिजनेस को लेकर कुछ नीतियां बनाई थीं जिसका अनुसरण करके सफलता की नई ऊंचाईयों को छुआ जा सकता है. चाणक्य के अनुसार इन बातों के अनुसरण से एक व्यक्ति सफल व्यापारी बनता है. आचार्य चाणक्य ने बताया है कि किसी भी बिजनेस के लिए सकारात्मक सोच का होना बेहद जरूरी है. बिजनेस से जुड़ा कोई भी निर्णय लेने से पहले सोच स्थिर और सकारात्मक होना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: चाणक्य नीति: दूसरों में दोष ढूंढने वाले व्यक्ति को कभी नहीं मिलती सफलता

जोखिम लेने से कभी भी ना पीछे हटें
उनका कहना है कि बिजनेस को सफल बनाने के लिए मन के अंदर कभी भी नकारात्मक भाव नहीं लाने चाहिए. सकारात्मक सोच के साथ कार्य का आरंभ करना चाहिए और आपको सफलता जरूरत मिलेगी. इसके अलावा आचार्य चाणक्य (Chanakya Neeti) ने कहा है कि जोखिम किसी भी व्यापार के लिए एक महत्वपूर्ण पहलू है ऐसे में अगर आप जोखिम लेने से हिचकिचाएंगे तो आप एक सफल व्यापारी नहीं बन पाएंगे. उनके अनुसार कारोबार में जोखिम उठाने से कभी नहीं घबराएं और पूरी जानकारी और रणनीति के साथ नए कार्य का आरंभ करना चाहिए. चाणक्य का कहना है कि व्यापारी को नए नवाचारों से अवगत होना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: चाणक्य नीति: इन 3 कारणों से जीवन में नहीं मिलती सफलता, मां लक्ष्मी भी रहती हैं नाराज

व्यापारी को अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना चाहिए
चाणक्य के अनुसार व्यापार में वाणी का बड़ा महत्व है. व्यापार करते समय व्यापारी को अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना चाहिए. उनका कहना है कि व्यापार में उन्हीं लोगों को सफलता मिलती है जो व्यवहार कुशल होने के साथ ही वाकपटु होते हैं. चाणक्य कहते हैं कि कोई भी कार्य को अकेले नहीं किया जा सकता है ऐसे में अगर किसी व्यापारी के पास अच्छे सहयोगी होते हैं तो वह कारोबारी काफी तेजी के साथ सफलता हासिल करता है. चाणक्य का कहना है कि तीखे और कड़वे बोल आपको कारोबार में नुकसान पहुंचा सकते हैं. चाणक्य कहते हैं कि व्यापारी को हमेशा अपनी बराबरी के लोगों से मित्रता रखनी चाहिए. उनका कहना है कि जो लोग बराबरी के मित्र नहीं रखते हैं उन्हों ऐसे लोगों से हमेशा कष्ट मिलता रहेगा.



संबंधित लेख

First Published : 08 Mar 2021, 10:44:32 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here