CBI ने FCI मैनेजर सहित 4 को रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार, 3.01 रुपये बरामद : CBI arrests 4 people including the FCI divisional manager for bribery recovers cash of Rs 3.01 crores

265

कोरोना वायरस संक्रमण जैसे संकटकाल में भी लोग रिश्वतखोरी से बाज नहीं आ रहे हैं. ताजा मामला मध्य प्रदेश के भोपाल का है जहां पर एक भारतीय खाद्य निगम के संभागीय प्रबंधक सहित चार लोगों को सीबीआई ने रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है.

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: फाइल )

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस संक्रमण जैसे संकटकाल में भी लोग रिश्वतखोरी से बाज नहीं आ रहे हैं. ताजा मामला मध्य प्रदेश के भोपाल का है जहां पर एक भारतीय खाद्य निगम के संभागीय प्रबंधक सहित चार लोगों को सीबीआई ने रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. इतना ही नहीं सीबीआई ने इनके पास से 3.01 करोड़ रुपये नकद भी बरामद किए हैं. आपको बता दें कि भारतीय खाद्य निगम के इन कर्मचारियों ने एक सिक्योरिटी एजेंसी से रिश्वत के तौर पर पैसे मांगे थे जिसके बाद सीबीआई को इसके बारे में भनक लगी और सीबीआई ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इन चारों को गिरफ्तार कर लिया.

सीबीआई (CBI) ने गुरुग्राम की एक सिक्योरिटी एजेंसी से रिश्वत मांगने के मामले में भारतीय खाद्य निगम के मैनेजर सहित चार लोगों को भोपाल स्थित एफसीआई कार्यालय से गिरफ्तार किया है. FCI ने गुड़गांव की एक सिक्योरिटी कंपनी से  बिल पास कराने के लिए रिश्वत की मांगी थी. सिक्योरिटी कंपनी कैप्टन कपूर एंड संस का ठेका FCI के पास है, जिसका एक साल का बिल तैयार किया जाता है, एफसीआई के संभागीय मैनेजर, अकाउंट मैनेजर और सिक्योरिटी मैनेजर सहित क्लर्क द्वारा बिल पास करने के लिए 10 प्रतिशत कमीशन मांग की गई थी.

शिकायत के बाद सीबीआई ने बनाया ये प्लान
एफसीआई के कर्मचारियों से रिश्वत की मांग के बाद गुड़गांव की सिक्योरिटी कंपनी ने सीबीआई से इस बात की शिकायत की जिसके बाद सीबीआई ने अपना जाल बिछाया और इस जाल में रिश्वत लेने वाले सभी आरोपी धर दबोचे गए. शुक्रवार को आरोपितों को रंगे हाथ पकड़ने के लिए सीबीआई जाल बिछाया और मैनेजर को भोपाल के माता मंदिर क्षेत्र में बुलाया. रिश्वत की राशि लेने के बाद एफसीआई के डिविजनल मैनेजर सहित तीन अन्य आरोपी को सीबीआई ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.  

मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में फूड कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया (FCI) के लिपिक (Cleark) किशोर मीणा के निवास से सीबीआई ने छापेमारी के दौरान घर में रखी गई तिजोरी से 3.01 करोड़ रूपये कैश बरामद किए गए, वहीं सीबीआई को बाबू से मध्य प्रदेश के एक अफसर से जुड़े हुए लिंक के प्रमाण भी मिले हैं इस मामले में आगे भी जांच जारी उम्मीद है इस मामले में और भी बड़े नाम सामने आएं.



संबंधित लेख

First Published : 29 May 2021, 04:42:35 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.




Source link