Case against 200 supporters including SP leader Dharmendra Yadav for taking out Hooters rally in the joy of being released from jail

129

इटावा में सपा नेता धर्मेंद्र यादव समेत 200 समर्थकों के खिलाफ हूटर रैली निकालने पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

इटावा में जेल से रिहा होने की खुशी में हूटर रैली निकालने वाले सपा नेता घर्मेद्र यादव और उनके 200 समर्थकों पर पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है. इसके साथ ही पुलिस की कई टीमें तलाश में जुट गई हैं.

इटावा. उत्तर प्रदेश की इटावा की जिला जेल से रिहा हुए समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव को हूटर रैली निकालना भारी पड़ गया है. धर्मेंद्र यादव समेत उनके 200 समर्थकों के खिलाफ सिविल लाइन थानें में अलग-अलग धारा और महामारी अधिनियम के तहत FIR दर्ज की गई है. पुलिस की कई टीमों को तलाश में लगा दिया है. एसएसपी डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह ने आज यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि देर शाम घर्मेंद्र यादव के स्वागत सत्कार से जुडे हुए वीडियो वायरल होने के बाद सीओ राजीव प्रताप सिंह भारी पुलिस बल के साथ जिला जेल परिसर का निरीक्षण करने के लिए पहुंचे.

डॉक्टर ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि शुक्रवार शाम को जिला जेल से रिहा हुए घर्मेंद्र यादव ने आज सुबह सैकडों गाडियों को जेल के बाहर बुला कर अपने समर्थकों के जरिये जोरदार स्वागत कराया, इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस और प्रशासन मे हडंकप मच गया. सोशल मीडिया में वायरल हुए वीडियो के आधार पर इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) डा. बृजेश कुमार सिंह ने धर्मेंद्र यादव और उनके 200 समर्थकों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में महामारी अधिनियम और अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है. वायरल वीडियो की प्राथमिक जांच के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

ऐसा सुनने में आया कि फैंड्रस कालौनी इलाके मे एक मैरिज होम मे स्वागत सत्कार और भोजन के बाद घर्मेद्र यादव औरैया के लिए आगरा कानपुर हाईवे के जरिये रवाना हो गये. इटावा से लेकर औरैया सीमा तक के सीसीटीवी कैमरों के वीडियो फुटेज तलाशने में पुलिस की कईयो टीमे जुट गई हैं. युवजन सभा अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव द्वारा इटावा जेल से रिहाई के बाद भारी संख्या में वाहनों के साथ हाईवे पर निकाले गए जुलूस के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा डा. बृजेश कुमार सिंह के निर्देशानुसार थाना सिविल लाइन पुलिस द्वारा रैली निकालकर कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करने वाले धर्मेंद्र यादव व अन्य 200 अज्ञात व्यक्तियों के एफआईआर दर्ज की गई है. अज्ञात व्यक्तियों की पहचान एवं गिरफ्तारी की जा रही है.

धर्मेंद्र यादव इटावा की जिला जेल से शुक्रवार की शाम को रिहा हो गए थे, लेकिन आज सुबह भारी काफिले के साथ इटावा की जिला जेल के बाहर से शहर भर में भ्रमण करते हुए नजर आए. जेल से रिहा होने के बाद धर्मेंद्र यादव को उनके समर्थकों ने बाकायदा चांदी का मुकुट और गले में माला डाल करके उनका स्वागत सत्कार भी किया. धर्मेंद्र यादव इटावा के पड़ोसी औरैया जिले में समाजवादी युवजन सभा अध्यक्ष है, लेकिन पंचायत चुनाव में उनको भाग्य नगर से जिला पंचायत सदस्य के तौर पर चुनाव मैदान में उतारा गया. जहां करीब 13000 वोटों से उनकी जीत हो गई लेकिन इससे पहले धर्मेंद्र यादव अपराधिक मामले में गिरफ्तार करके जेल भेज दिए गए थे. धर्मेंद्र यादव के खिलाफ औरैया के जिला प्रशासन ने जिला बदर की भी कार्रवाई करके रखी हुई है, इसके साथ ही धर्मेंद्र यादव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की भी कार्रवाई हुई है.







Source link