स्तन कैंसर की मैमोग्राफी से स्क्रीनिंग की जा सकती है- डा.विपिन पुरी

48

कैंसर कार्ड धारक का निःशुल्क उपचार – डॉ सुधीर सिंह

केजीएमयू में स्तन कैंसर ​जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

भास्कर न्यूज

लखनऊ।किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में शनिवार को स्तन कैंसर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यह आयोजन रेडियोथेरेपी और एंडोक्राइन सर्जरी विभाग द्वारा सम्मिलित रूप से किया गया।

 

मुख्य अतिथि कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ बिपिन पुरी ने विचार व्यक्त ​करते हुए कहा कि स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला सबसे सामान्य कैंसर यह अधिकतर 50 से 75 वर्ष की आयु की महिलाओं में होता है।फेमिली हिस्टोरी होने पर यह कम उम्र में भी हो जाता है।

 

मैमोग्राफी से स्क्रीनिंग की जा सकती है।प्रोसीजर डे केयर प्रोसीजर है।जिसमें शुरुआत में केवल
सर्जरी से काम चल जाता है। जेनेटिक टेस्टिंग से खतरों के बारे में पता लग जाता है।स्तनपान ना कराने पर खतरा अधिक है,मोटापे से खतरा अधिक, घर में मेल ब्रेस्ट कैंसर हिस्टोरी होने पर खतरा अधिक।एंडोक्राइन सर्जरी विभागाध्यक्ष प्रो आनंद मिश्रा ने बताया कि यह पुरुषों में भी हो सकता है।प्रतिकुलपति प्रो विनीत शर्मा ने जंक फूड से बचने और नियमित रूप से व्यायाम करने पर जोर दिया।

 

रेडियोथेरेपी से डॉ सुधीर सिंह ने बताया कि स्तन कैंसर की हर श्रेणी का उपचार उपलब्ध है। इस कैंसर में रेडियोथेरेपी,कीमोथेरेपी,सर्जरी,हार्मोनल थेरेपी और टार्गेटेड थेरेपी दी जाती हैं।कहा कैंसर कार्ड धारकों को यह सब सुविधा निःशुल्क प्रदान की जाती है।कार्यक्रम का संचालन डॉ दीप्ति और डॉ शिउली द्वारा किया गया।

 

कार्यक्रम में डॉ शालिनी गुप्ता,डॉ पूजा,डॉ कुशाग्र,डॉ गीतिका,डॉ चंचल,डॉ कुलरंजन, डॉ मृणालिनी,डॉ नीलम,डॉ ईशा,रचना और छात्र -छत्राओ ने भाग लिया।