bjp-mns allaiance: Maharashtra Politics: महाराष्ट्र में गठबंधन की नई इबारत, पंचायत उपचुनाव में BJP और मनसे ने मिलाया हाथ – first time in maharashtra bjp and mns joins hand for palghar panchayat bye election

21

हाइलाइट्स

  • महाराष्ट्र में पहली बार साथ आए बीजेपी और एमएनएस
  • पालघर जिले में उपचुनाव के लिए हुआ दोनों पार्टियों का गठबंधन
  • आगामी चुनावों में भी हो सकता है यह गठबंधन
  • यह गठबंधन बढ़ाएगा शिवसेना की मुश्किलें

मुंबई
कहते हैं कि राजनीति में कोई भी परमानेंट दुश्मन या दोस्त नहीं होता है। यह बात आज सच भी हो गई। विचारधारा की वजह से अब तक एक दूसरे की खिलाफत करने वाली बीजेपी और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने हाथ मिला लिया है। अब दोनों पार्टियां महाराष्ट्र के आदिवासी जिले पालघर में पंचायत और जिला परिषद के उपचुनाव को एक साथ लड़ेंगी।

बीजेपी और मनसे के गठबंधन से महाराष्ट्र में राजनीति का एक नया अध्याय शुरू हुआ है। अगर इस चुनाव में सब कुछ सही रहा तो भविष्य में राज्य भर में होने वाले महानगर पालिका चुनाव और जिला परिषद चुनावों में भी यह गठबंधन दिख सकता है। इस गठबंधन की औपचारिक घोषणा भी कर दी गई है।

मुलाकातों का असर हुआ
कुछ दिन पहले महाराष्ट्र बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे से उनके घर कृष्ण कुञ्ज में जाकर मुलाकात की थी। चाय पर हुई चर्चा के बाद पाटिल ने मीडिया से कहा था कि राज ठाकरे ने उन्हें चाय पर आमंत्रित किया था। इसलिए वो उनके घर गए थे। पाटिल ने उस दिन राज ठाकरे की जमकर तारीफ भी की थी। भविष्य में दोनों पार्टियों के गठबंधन की नींव उसी दिन पड़ गई थी। हालांकि पाटिल ने कहा था कि एमएनएस को परप्रांतियों के प्रति अपना नजरिया बदलना होगा तभी यह गठबंधन संभव है।

बढ़ेंगी शिवसेना की मुश्किलें
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना और शिवसेना दोनों ही दल राज्य में मराठी मानुस और भूमिपुत्रों की राजनीति करते हैं। मनसे की वजह से शिवसेना को कई सीटों पर नुकसान या फिर हार का सामना करना पड़ा है। फ़िलहाल महाराष्ट्र में बीजेपी सबसे ज्यादा विधायकों वाली पार्टी है। बावजूद इसके वह सत्ता से बाहर है। शिवसना-बीजेपी की युति(गठबंधन) टूटने के बाद से ही बीजेपी किसी राजनीतिक दल से दोस्ती चाहती थी। ताकि वह शिवसेना की कमी को पूरा कर सके। मनसे के रूप में बीजेपी को वह दोस्त अब मिल गया है।

bjp- mns

महाराष्ट्र में पहली बार साथ आए बीजेपी और एमएनएस

Source link