BJP Jan Ashirwad Yatra: narayan rane may comment on shivsena :राणे यात्रा के दौरान शिवसेना पर भी हमला कर सकते हैं

31

हाइलाइट्स

  • दिल्ली से मुंबई पहुंचे केंद्रीय मंत्री नारायण राणे
  • राणे के साथ यात्रा के लिए फडणवीस समेत कई नेता शामिल
  • मुंबई में आज से नारायण राणे की जन आशीर्वाद यात्रा शुरू
  • राणे यात्रा के दौरान शिवसेना पर भी हमला कर सकते हैं

मुंबई
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा केंद्रीय मंत्री नारायण राणे का मुंबई में आगमन हो चुका है। उनके अभिवादन के लिए देवेंद्र फडणवीस समेत बीजेपी के तमाम नेता मौजूद थे।

नारायण राणे ने मातोश्री से महज चंद कदमों के फासले पर कहा कि मैं नरेंद्र मोदी का ऋणी हूं, मुझे अपने कैबिनेट में शामिल करवा कर उन्होंने मेरा मान बढ़ाया है। मैं महाराष्ट्र से ताल्लुक रखता हूं, राज्य का विकास करना मेरी जिम्मेदारी है। इसलिए महाराष्ट्र की जनता का आशीर्वाद मांगने आया हूं।

शिवसेना और बीजेपी कार्यकर्ताओं के आमने सामने आने की आशंका
नारायण राणे शिवसेना के खिलाफ अपने बयानों को लेकर महाराष्ट्र में काफी चर्चित हैं। अब केंद्रीय मंत्री बनने के बाद जिस तरह से उन्हें बीएमसी के चुनाव जिताने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उसके बाद आज की यह जन आशीर्वाद यात्रा बेहद महत्वपूर्ण है।

इस बात की भी आशंका जताई जा रही है कि नारायण राणे की यात्रा के दौरान शिवाजी पार्क के आसपास बीजेपी और शिवसेना के कार्यकर्ता आपस में उलझ सकते हैं। क्योंकि नारायण राणे ने स्मृति स्थल पर भी जाने की बात कही है और शिवसैनिकों ने कहा है कि वह ऐसा होने नहीं देंगे।

स्मृतिस्थल जाएंगे राणे?
मुंबई में दाखिल होने के बाद नारायण राणे एयरपोर्ट से सीधा शिवाजी पार्क जाने वाले हैं। वहां पर वे शिवाजी महाराज की प्रतिमा की पुष्प वंदना करेंगे। वहीं पास में बने बालासाहेब ठाकरे के स्मृति स्थल पर भी क्या नारायण राणे जाएंगे? इस बात पर सभी का ध्यान लगा हुआ है। वहीं शिवसैनिकों ने कहा है कि नारायण राणे को बालासाहेब के स्मृति स्थल पर जाने का नैतिक अधिकार नहीं है और शिवसैनिक उन्हें वहां जाने भी नहीं देंगे।

शिवसेना के ग्राउंड पर राणे की बैटिंग
शिवसेना की स्थापना से लेकर अब तक शिवाजी पार्क में शिवसेना की दशहरा रैली होती है। इसके अलावा इस इलाके में शिवसेना की गहरी पैठ है। इसलिए इसे शिवसेना का गढ़ भी कहा जाता है। शिवाजी पार्क में छत्रपति शिवाजी महाराज की पुष्प वंदना के बाद राणे पार्क में एक पेड़ भी लगाएंगे। इसके बाद शिवाजी पार्क से ही शुरू होगी जन आशीर्वाद यात्रा।

मुंबई के कई इलाकों में राणे की जन आशीर्वाद यात्रा जाने वाली है। इस यात्रा के जरिये राणे जनता से संवाद साधेंगे। इस दौरान महाविकास अघाड़ी पर वे किस तरह से हमला करते हैं। इसपर भी सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। बीएमसी चुनाव में शिवसेना को सबक सिखाने के लिए भी राणे को आदेश दिया गया है।

जन आशीर्वाद यात्रा को मुंबई पुलिस की नोटिस
मुंबई में होने वाली जन आशीर्वाद यात्रा को मुंबई पुलिस ने मंजूरी नहीं दी है। कोरोना माहमारी के चलते पुलिस ने यह कदम उठाया है। राणे की जन आशीर्वाद यात्रा के पहले ही पुलिस ने आयोजकों को नोटिस भेजा है।

Source link