Binge on delicious, healthy gujiyas of different flavours this Holi होली में चॉकलेट और बेक्ड गुजिया की मांग बढ़ी, खरीदारी पिछले साल से तेज

51

हलवाइयों ने भी ग्राहकों की पसंद और सेहत को ध्यान में रखते हुए मिठाइयों की वेरायटीज में नए प्रयोग किए हैं.

कोरोना के साये से बेअसर रहा मिठाइयों का बाजार. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • गुजिया में परंपरागत खोया के बजाय चॉकलेट, गुलकंद, मावा का प्रयोग
  • हल्दीराम ने इस साल एक खास प्रोडक्ट ‘बेक्ड स्पेनिश कॉर्न’ उतारा है
  • प्रमुख शहरों में कोरोना को लेकर प्रतिबंध के बावजूद उनकी बिक्री पर असर नहीं

नई दिल्ली:

अगर आप अपनी सेहत को लेकर काफी सजग रहते हैं और खान-पान में स्वास्थवर्धक खाद्य-सामग्री का विशेष ध्यान रखते हैं तो आपके लिए इस साल होली में बेक्ड गुजिया एक विशेष विकल्प हो सकती है. होली में रंग के उमंग पर भले की कोरोना के कहर साया हो, क्योंकि लोग सार्वजनिक होली मिलन समारोहों से दूर रहने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन लजीज व्यंजन व मिष्ठान्नों के जायका का लुत्फ उठाने से कोई पीछे नहीं है. हलवाइयों ने भी ग्राहकों की पसंद और सेहत को ध्यान में रखते हुए मिठाइयों की वेरायटीज में नए प्रयोग किए हैं. होली पर गुजिया उत्तर भारत में लोगों की खास पसंद की मिठाई होती है. इसलिए देश के नामचीन मिष्ठान्न प्रतिष्ठानों ने गुजिया में परंपरागत खोया के बजाय चॉकलेट, गुलकंद, मावा के साथ-साथ विशेष विदेशी खाद्य सामग्री का उपयोग किया है।

फेडरेशन ऑफ स्वीट्स एंड नमकीन मैन्युफैक्चर्स के डायरेक्टर फिरोज एच. नकवी ने आईएएनएस को बताया कि इस बार होली में चॉकलेट गुजिया बच्चों और युवाओं की खास पसंद बन गई है. उन्होंने कहा कि देश में कोरोना के फिर गहराते प्रकोप को लेकर होली पर थोड़ा असर जरूर पड़ा, लेकिन मिठाइयों की बिक्री में कोई कमी नहीं आई है. नकवी ने कहा कि अगर कोरोना के कहर का साया नहीं होता है तो इस साल होली पर मिठाइयों की रिकॉर्डतोड़ बिक्री होती. उन्होंने कहा कि होली पर गुजिया की बिक्री सबसे ज्यादा होती है और मिठाइयों की कुल बिक्री में गुजिया की हिस्सेदारी 50 फीसदी से ज्यादा रहती है.

नकवी ने बताया कि होली पर देशभर में मिठाइयों और नमकीन का करीब 8,000 से 10,000 करोड़ रुपये का कारोबार होता है. इसमें करीब 10 से 15 फीसदी हिस्सेदारी ठंडाई की रहती है. उन्होंने बताया कि कोरोना काल में मिठाई व नमकीन के कारोबारियों ने अपनी क्षमता का विस्तार करने के साथ-साथ नए प्रयोग भी किए. नोएडा के मिठास स्वीट्स एवं रेस्तरां के पुष्पेंद्र शर्मा ने आईएएनएस को बताया कि सुस्वादु चॉकलेट गुजिया के साथ-साथ बेक्ड गुजिया और गुलकंद गुजिया को मिष्ठान्नों के शौकीन खूब पसंद कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि तेल रहित व सेहतमंद मिष्टान्नों के तौर पर बेक्ड गुजिया की मांग बढ़ गई है. वहीं, हल्दीराम ने केसर की गुजिया में क्रैनबेरी का इस्तेमाल किया है जो एक पोपुलर सुफरफूड है. हल्दीराम प्रोडक्ट (आरएंडडी) के सीनियर मैनेजर अंकित चावला ने बताया कि इस गुजिया की खूब मांग है. उन्होंने बताया कि कोरोना काल में पैकेटबंद मिठाइयों और नमकीन की ऑनलाइन खरीदारी में इजाफा हुआ है और पिछले साल के मुकाबले इस साल होली में उनकी बिक्री बढ़ी है. हल्दीराम ने इस साल एक खास प्रोडक्ट ‘बेक्ड स्पेनिश कॉर्न’ उतारा है.

वहीं, नमकीन के एक अन्य ब्रांड बिकानो के डायरेक्टर मनीष अग्रवाल ने भी बताया कि कोरोना काल में पैकेट बंद आइटम की मांग बढ़ी है. मध्यप्रदेश के इंदौर के भंवरीलाल मिठाईवाला की गुजिया काफी चर्चित है. इस प्रतिष्ठान के अनिल सैनी ने बताया कि मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल जैसे प्रमुख शहरों में कोरोना को लेकर प्रतिबंध के बावजूद उनकी बिक्री पर कोई असर नहीं है. उन्होंने बताया कि जिनको होली की मिठाई खरीदनी थी वे शनिवार तक खरीद चुके हैं.



संबंधित लेख

First Published : 29 Mar 2021, 02:46:05 PM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Source link